Reconstruction Of Roads: अमृत महोत्सव के अंतर्गत तीन सड़कों का कायाकल्प

Updated: | Sat, 23 Oct 2021 10:30 AM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Reconstruction Of Roads: देश की आजादी के 75वें वर्षगांठ पर देश भर में अमृत महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में रायपुर जिले के अंतर्गत आने वाले प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना भी (पीएमजीएसवाय) अमृत महोत्सव मना रहा है। महोत्सव के दौरान रायपुर जिले के अंतर्गत आने वाली तीन सड़क जिसमें चरोदा से दोंदेकला, अमेठी से गुदगुदा और आंरग ब्लाक स्थित भैंसा से देवर तिल्दा सड़क के दिन वापस लौट आये हैं।

विभाग इन तीनों सड़कों का कायाकल्प करने का निर्णय लिया है। अमृत महोत्सव के अंतर्गत विभाग सड़कों की सफाई, मरम्मत, डामरीकरण आदि काम करवा रहा है। अमृत महोत्वस 15 से 30 अक्टूबर चलेगा इसमें दो सड़कों के मरम्मत का काम पूरा कर लिया गया है। बची हुई सड़क का मरम्मत कार्य भी जल्द शुरु किया जाएगा। ज्ञात हो कि रायपुर जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की शुरूआत वर्ष 2001 में किया गया था।

इसका उद्देश्य 500 से अधिक आबादी वाले इलाकों को बेहतर परिवहन की सेवा उपलब्ध कराने के साथ बेहतर सड़कों का निर्माण है। ताकि बारहों महीने आवगमन सुचारू रूप से संचालित हो सके। वर्तमान में रायपुर जिले में 500 की जनसंख्या से अधिक वाले गांव में सड़कों का काम पूरा कर लिया गया है। रायपुर जिले में कुल 39 सड़कें बनायी गई हैं।

जिसमें तीन सड़क जिसमें धरसींवा ब्लाक के अंतर्गत आने वाली चरोदा से दोंदेकला, अमेठी से गुदगुदा का काम पूरा कर लिया गया है। आंरग ब्लाक स्थित भैंसा से देवर तिल्दा जाने वाली सड़क का काम जल्द शुरु होगा। विभाग की माने तो अमृत महोत्सव के दौरान एेसी सड़क का चयन किया गया है जिनका निर्माण कार्य चार से पांच साल हुआ है। क्योंकि सड़कों के निर्माण के बाद पांच साल तक मरम्मत का काम ठेका एजेंसी द्वारा किया जाता है। इससे विभाग को अतिरिक्त पैसे खर्च नहीं करने पड़ते हैं।

वर्जन

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना आजादी के 75वें वर्षगांठ मनाई जा रही है। जिसमें रायपुर जिले की तीन सड़कों के मरम्मत का कार्य, डामरीकरण, पेंटिंग आदि का काम किया जा रहा है।

- आरबी सोनी, ईई, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना

Posted By: Shashank.bajpai