Schools Reopen Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में कल से खुलेंगे स्कूल, जिन्हें सर्दी-खांसी उन्हें नहीं मिलेगा प्रवेश

Updated: | Sun, 01 Aug 2021 04:51 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Schools Reopen Chhattisgarh: राजधानी समेत प्रदेशभर में सरकारी और निजी स्कूलों में कल से बच्चों की चहल-पहल शुरू हो जाएगी। बच्चे स्कूल आएंगे और उनकी पहले की तरह ही आफलाइन कक्षाएं चलेंगी। जिन बच्चों को सर्दी- खांसी होगी उन्हें स्कूलों में एंट्री नहीं मिलेगी। उपस्थिति अनिवार्य नहीं है इसलिए अभिभावकों की मर्जी से बच्चे स्कूल आएंगे। बच्चों को रोटेशन के अनुसार स्कूल बुलाया गया है। 50 फीसद क्षमता में ही बच्चों को कक्षाओं के भीतर बिठाया जाएगा।

सुकमा को छोड़कर बाकी जिलों में कोरोना रेट एक प्रतिशत से कम

सुकमा को छोड़कर प्रदेश के लगभग सभी जिलों में कोरोना वायरस से पाजिटिविटी रेट एक प्रतिशत से कम है। राज्य का कोरोना पाजिटिविटी रेट 0.2 फीसद है वहीं रायपुर में 0. 28 और सुकमा में 1.08 प्रतिशत है। सुकमा, जैजेपुर और सक्ती को छोड़कर बाकी जगहों पर स्कूल खुलेंगे। कुछ इक्का-दुक्का जगहों पर स्कूल खोलने की अनुमति स्थानीय पार्षद या सरपंचों ने नहीं दी है।

इन बच्चों को आना है स्कूल : पहली से लेकर पांचवीं, आठवीं, 10वीं और 12वीं के बच्चों को स्कूल बुलाया गया है।

ये बच्चे आनलाइन घर से पढ़ेंगे: कक्षा छठवीं, सातवीं, नौवीं और 11वीं के बच्चों की अभी आनलाइन ही कक्षाएं लगेंगी।

स्कूल स्तर संख्या शिक्षक छात्र-छात्राओं की संख्या

प्राइमरी स्कूल 16,393 94,565 26,51,484

मिडिल स्कूल 16,393 78,702 14,81,381

हाईस्कूल 2,726 21,358 9,43,808

हायर सेकेंडरी 4,469 74,170 6,00530

कुल 56,303 2,68,795 56,77,203

समता कालोनी और लाखेनगर में नहीं खुलेगा स्कूल: रायपुर के समता कालोनी और लाखे नगर में फिलहाल स्कूल नहीं खोले जाएंगे। यहां के स्थानीय पार्षदों ने फिलहाल पहली से पांचवीं, आठवीं के बच्चों के लिए स्कूल खोलने की अनुमति नहीं दी है। बाकी 10 वीं- 12वीं के बच्चे सभी जिलों में स्कूल आएंगे।

शिक्षक- बच्चों के लिए ये गाइडलाइन

बच्चों को पानी का बोतल खुद ही लाना होगा

मास्क और हैंड सैनिटाइजर रखना अनिवार्य होगा

स्कूलों में बच्चों की हाथ धुलाई के लिए व्यवस्था करनी होगी

कक्षाओं के भीतर बच्चों की आवश्यक दूरी बनाकर बैठाना है

शिक्षक-शिक्षिकाओं को निर्धारित समय तक रहना अनिवार्य

अभिभावकों व स्थानीय पार्षद या सरपंच से सहमति जरूरी

मिड डे मील का वितरण पूरी सावधानी से करेंगे

मिड डे मील के लिए विभाग की गाइडलाइन

अभिभावक की सहमति से बच्चों को मध्या-भोजन देंगे

किचन में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना होगा

पुराने तेल, नमक, मसाला का इस्तेमाल न करें

भोजन कराने से पहले बच्चों का हाथ साबुन से धुलवाएं

रसोइयों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा

स्कूल खोलने के लिए शिक्षक, बच्चों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसके अनसुार ही स्कूल को संचालित किया जाना है। - एएन बंजारा, डीईओ, रायपुर

Posted By: Kadir Khan