Success Tips: नालंदा परिसर में UPSC की तैयारी कर रहे छात्रों को IAS अभिषेक ने दिए सफलता के टिप्स

Updated: | Sun, 19 Sep 2021 05:09 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Success Tips: नालंदा परिसर लाइब्रेरी के सदस्यों को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में चयनित अधिकारियों से रूबरू कराने के लिए सफलता की पाठशाला कार्यक्रम शुरू किया गया है। नालंदा परिसर प्रबंधन सोसायटी के अध्यक्ष एवं कलेक्टर रायपुर सौरभ कुमार की पहल पर ये कार्यक्रम शुरू किया गया था, जो लगातार प्रतिभागियों के बीच लोकप्रिय होता जा रहा है। इस कार्यक्रम के जरिये छात्रों को यूपीएससी की परीक्षा में सफलता के टिप्स दिए जाते हैं।

इस कार्यक्रम के तहत रविवार 19 सितंबर को यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा के तैयारी के संबंध में मार्गदर्शन के लिए कार्यशाला की गई। इस कार्यशाला में 2020 बैच के आईएएस एवं सहायक कलेक्टर रायपुर अभिषेक कुमार ने प्रतिभागियों को सफलता के टिप्स दिए। बताते चलें कि इस साल यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा 10 अक्टूबर 2021 को आयोजित होने जा रही है।

अभिषेक कुमार ने प्रतिभागियों को बताया कि वे कॉन्सेप्ट को समझते हुए प्रमाणिक पुस्तकों से पिरामिड स्टाइल में स्टडी करें। जिस प्रकार पिरामिड का आधार चौड़ा होता है तथा शीर्ष की तरफ जाने पर उसकी चौड़ाई घटती जाती है उसी प्रकार सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए पहले चरण में विस्तृत अध्ययन करके अपने नोट्स तैयार करें। इन नोट्स को अपडेट करते रहें।

परीक्षा के समय इस नोट्स के मुख्य बिंदुओं पर फोकस कर उनका लगातार रिवीजन करें। प्रारंभिक परीक्षा के लिए अधिक से अधिक मॉक टेस्ट दें और उनका विश्लेषण करके अपनी कमजोरियों को दूर करें। मॉक टेस्ट, यूपीएससी द्वारा परीक्षा आयोजित करने के समय अर्थात् प्रातः 9.30 बजे से 11.30 बजे तक तथा दोपहर 2.30 बजे से 4.30 बजे तक देने की कोशिश करें, ताकि आपके शरीर की बायोलॉजिकल क्लॉक, वास्तविक परीक्षा के लिए तैयार हो सके।

साथ ही परीक्षा के दिन आपका माइंड तेजी से और कुशलता के साथ काम कर सके। परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होने के कारण उन प्रश्नों को पहले राउंड में हल करें, जिनके उत्तर आपको अच्छी तरह से पता हों। दूसरे राउंड में आप उन प्रश्नों को हल करें, जिनके दो ऑप्शन को आपने एलिमिनेट कर दिया है। परीक्षा में क्वालिटी के साथ क्वांटिटी पर भी विशेष ध्यान रखें।

प्रारंभिक परीक्षा में सीसेट के प्रश्न पत्र में उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है इसलिए इंग्लिश और मैथ्स के प्रश्नों की भी प्रैक्टिस अधिक से अधिक करें। कार्यशाला में अभिषेक कुमार ने प्रतिभागियों के सवालों एवं जिज्ञासाओं को भी शांत किया। कार्यशाला में रोजगार अधिकारी एवं नोडल अधिकारी केदार पटेल, लाइब्रेरियन डॉ. मंजुला सहित 65 से अधिक प्रतिभागी सदस्य शामिल हुए।

प्रतिभागियों ने इस आयोजन को बताया मोटिवेशनल

नालंदा परिसर के सदस्य एवं यूपीएससी के प्रतिभागी दिव्यांश ने बताया कि यह आयोजन को बहुत उपयोगी एवं प्रेरक था। वहीं, सदस्य योगिता तांद्रे ने बताया कि इससे उसके बहुत सारे डाउट्स क्लियर हुए हैं तथा उसे तैयार करने की नई दिशा मिली है।

Posted By: Shashank.bajpai