प्रतापी राजा गुरु बालकदास शौर्य के प्रतीक: मंत्री गुरु रुद्र कुमार

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 07:03 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रूद्रकुमार शनिवार को अहिवारा विधानसभा में गुरु घासीदास सेवा एवं संस्कार परिषद द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। इस कार्यक्रम का आयोजन अहिवारा बानबरद के वार्ड क्रमांक 13 स्थित सतनाम धाम में किया गया। मंत्री गुरु रूद्र कुमार ने अपने उद्बोधन में कहा कि शौर्य के प्रतीक बलिदानी राजा गुरु बालक दास जी का जीवन बहुत ही संघर्ष पूर्ण रहा है। उन्होंने समाज को न केवल संगठित किया, बल्कि समाज में फैली हुई विभिन्न कुरीतियों के विरूद्ध शंखनाद किया।

उनके इन्हीं शौर्य के कारण तत्कालीन अंग्रेज शासन के अधिकारियों ने गुरु बालकदास जी को राजा की पदवी से नवाजा था। उन्होंने कहा कि हम सभी को परम पूज्य संत शिरोमणि बाबा गुरु घासीदास जी के बताए मार्ग में चलना चाहिए। सभी समाज के लोगों को उनके बताए मार्ग पर चलने से समाज और लोगों का उत्थान होगा। उन्होंने समस्त सतजनों को समाज को संगठित और मजबूत करने की बात कही।

इस अवसर पर सर्वप्रथम मंत्री गुरु रूद्र कुमार ने परम पूज्य संत शिरोमणि बाबा गुरु घासीदास जी के चित्र पर माल्यार्पण कर विधिवत पूजा-अर्चना की और समस्त मानव समाज के कल्याण के लिए कामना की। कार्यक्रम के दौरान मंत्री गुरु रूद्र कुमार ने समिति के पदाधिकारियों द्वारा सतनाम धाम प्रांगण में बाउंड्रीवाल एवं पानी टंकी निर्माण संबंधी मांगों को सहर्ष स्वीकार कर उन्हें पूर्ण करने के लिए घोषणा की।

इस अवसर पर गुरु प्रवक्ता डा. एमके कौशल, नगरपालिका अध्यक्ष नटवर लाल ताम्रकार, समिति के अध्यक्ष आर.एल.कोसरे, पार्षद डेजी टंडन, महंत मनीष बंजारे, हीरा वर्मा, एवं समस्त सामाजिक पदाधिकारी, राजमहंत, साटीदार, भंडारी एवं बड़ी संख्या में सत समाज के लोग मौजूद रहे।

Posted By: Shashank.bajpai