HamburgerMenuButton

Fight From Corona: कोरोना से जंग में विश्वविद्यालयों ने संभाला मोर्चा

Updated: | Sat, 08 May 2021 06:35 AM (IST)

संदीप तिवारी, रायपुर। Fight From Corona: छत्तीसगढ़ के कई विश्वविद्यालयों ने कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में मोर्चा संभाल लिया है। इंटरनेट मीडिया के माध्यम से युवा जुड़ चुके हैं और जमीनी स्तर पर लोगों को जागरूक करने का काम कर रहे हैं। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय परिसर में टीकाकरण केंद्र खोला गया है। यहां हर दिन 200 से अधिक लोगों का टीकाकरण कराया जा रहा है। इसमें राष्ट्रीय सेवा योजना के छात्र-छात्राओं ने काम संभाला है।

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग में वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से युवाओं को जागरूक किया जा रहा है। राज्यपाल अनुसुइया उइके ने दुर्ग विश्वविद्यालय के पोर्टल को लांच किया है। वहीं, बस्तर विवि ने भी वीडियो के जरिए आस-पास के गावों में जागरुकता अभियान शुरू कर दिया है।

कोरोना के खिलाफ जंग में विश्वविद्यालयों की ओर से महामारी प्रबंधन, एकीकृत स्वास्थ्य प्रबंधन, मानसिक तनाव प्रबंधन, योग व हैप्पीनेस जैसे वास्तविक समाधान मूलक पाठ्यक्रम त्वरित रूप से प्रारंभ करने के लिए भी योजना बनाई जा रही है।

पं. रविवि: मनोचिकित्सीय परामर्श और काढ़ा वितरण

रविवि के मनोविज्ञान विभाग के छात्रों और शिक्षकों ने निश्शुल्क मनोचिकित्सीय परामर्श केंद्र स्थापित कर मोर्चा संभाल लिया है। यहां अब तक 600 से अधिक कोरोना मरीज और उनके स्वजनों की काउंसिलिग की जा चुकी है। विवि परिसर की सृजनशील महिला समिति ने शिक्षकों और कर्मचारियों में काढ़ा वितरण शुरू किया है, साथ ही काढ़ा पीने के लिए प्रेरित किया है।

इतना ही नहीं महिलाओं की अगुवाई में कोविड टेस्टिंग के लिए काम किया जा रहा है। राष्ट्रीय सेवा योजना, एनसीसी और रेडक्रास के माध्यम से युवा सेवा कार्य में जुड़ रहे हैं। विवि के कर्मचारी और शिक्षक कोरोना मरीजों के कांटेक्ट ट्रेसिंग में भी जुड़े हुए हैं।

कॉलेजों के प्राचार्यों को कुलपति ने लिखा पत्र

रविवि के कुलपति डॉ. केशरीलाल वर्मा ने बताया कि उन्होंने विश्वविद्यालय के स्तर पर अध्ययनशालाएं और कॉलेजों के प्रमुखों को पत्र लिखकर अपील की है कि कोरोना महामारी में कॉलेजों के हर युवा को आगे लाएं। कोरोना टीकाकरण और कोरोना के प्रति भांतियों को कम करने के लिए हर युवा अपना दायित्व समझें और लोगों को जागरूक करने में अहम भूमिका निभाएं और शिक्षक भी दायित्व समझें।

दुर्ग विवि: युवाओं को भेज रहे जागरूकता संदेश

दुर्ग विवि की कुलपति डा. अरुणा पल्टा ने बताया कि दुर्ग विवि के आफिशियल वेबपोर्टल www.durguniversity.ac.in जागरूकता के लिए जानकारी अपलोड की है। विवि के छात्र-छात्राओं को मैसेज भेजा जा रहा है कि वे अपने घर-परिवार और रिश्तेदार को जागरूक करें। विवि के छात्र-छात्राओं ने जागरूकता संदेश लिखना शुरू किया। स्व-सहायता समूह के माध्यम से लोगों को मास्क वितरित कराने का काम किया जा रहा है।

बस्तर विवि: वीडियो बनाकर कर रहे जागरूक

बस्तर विवि के कुलपति डॉ. एसके सिंह ने बताया कि लगभग 1500 छात्र-छात्राओं ने गांवों को गोद लेकर जागरूकता का काम शुरू कर दिया है। टीकाकरण की भांतियों को दूर करने के लिए के जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए एक वीडियो विवि की ओर से बनाकर प्रसारित कर रहे हैं।

बिलासपुर विवि: ऑनलाइन चल रहा वेबिनार

अटल बिहारी वाजपेयी विवि बिलासपुर ने ''कोरोना पेंडेमिक की रोकथाम में विश्वविद्यालयों की भूमिका'' पर ऑनलाइन जागरुकता कार्यक्रम चला रखा है।वैक्सीनेशन में अशिक्षा, अंधविश्वास, विभिन्न भ्रामक जानकारियों के कारण भय का वातावरण बनाता जा रहा है, इसे दूर करने के लिए युवाओं को जोड़कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है।

Posted By: Shashank.bajpai
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.