राजनांंदगांव में पत्नी की हत्या कर पंचायत सचिव पति ने फांसी पर लटककर दी जान

Updated: | Tue, 30 Nov 2021 03:01 PM (IST)

राजनांदगांव (नईदुनिया प्रतिनिधि)। डोंगरगढ़ ब्लाक के ग्राम सेंदरी में रहने वाले पंचायत सचिव अरूण चंद्रवंशी (40) ने अपनी पत्नी सूरज बाई की गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद खुद घर के पंखे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। दोनों का शव मंगलवार सुबह उनके कमरे में मिला। घरवालों काे जब उनके कमरे में दोनों का शव मिला तो सभी सहम गए। स्वजनों ने तत्काल डोंगरगढ़ पुलिस को इसकी सूचना दी। खबर मिलते ही गांव पहुंची पुलिस ने दोनों का शव बरामद किया। घटना का कारण सामने नहीं आया है।

हालांकि मृतक के भाई युवराज ने कहा कि रविवार को मोबाइल फोन पर आए काल को लेकर भाई परेशान थे। अक्सर उनके पास फोन आता था। फोन किसका आता था, यह स्पष्ट नहीं है। पुलिस ने दंपती के शव को पोस्ट मार्टम के लिए भेजकर मामले को विवेचना में लिया है। जांच अधिकारी एसआई राधा बोरकर ने कहा कि मामले की जांच के बाद ही कुछ कारण सामने आएगा।

घटना सोम-मंगल की दरमियानी रात से मंगलवार सुबह के बीच की है। मृतक अरूण डोंगरगढ़ के ही कोटनापनी और बूढानछापर पंचायत में सचिव थे। रोज की तरह अरूण सोमवार को भी कोटनापानी पंचायत गए। वहां से वैक्सीन लगाने के बाद वो दोपहर में घर लौट गए। रात में खाना खाने के बाद सभी अपने कमरों में चले गए। मंगलवार सुबह जब अरूण के कमरे का दरवाजा काफी देर तक नहीं खुला तो स्वजनों ने उसे आवाज लगाई। फिर भी दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद परिवारवालों ने दरवाजा तोड़ा।

कमरे में पलंग पर अरूण की पत्नी सूरज बाई (36) की लाश पड़ी थी। वहीं अरूण का शव पंखे पर फांसी के फंदे में लटका था। जिसकी सूचना घरवालों ने तत्काल डोंगरगढ़ पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस की टीम घटनास्थल पहुंचकर दोनों के शव बरामद कर पीएम के लिए भेज दी है।

गांव वालों की जुटी भीड़

मंगलवार सुबह जब पंचायत सचिव और पत्नी की मौत की खबर गांव में लगी तो ग्रामीणों की भीड़ उनके घर के बाहर जमा हो गई। बताया गया कि पंचायत सचिव अरूण ने कपड़े से पत्नी सूरज बाई की गला घोंटकर पहले हत्या की। उसके गले में निशान भी मिला है। इसके बाद वो खुद नाइलोन की रस्सी पंखे में बांधकर फांसी लगा ली। मृतक दंपती के दो बच्चें हैं। दोनों उस रात अपने माता-पिता से लगे दूसरे कमरे में अन्य स्वजनों के साथ सो रहे थे।

फोन डिटेल खंगालेगी पुलिस

खबर है कि मृतक पंचायत सचिव अरुण मोबाइल फाेन पर आने वाले काल से परेशान रहता था। इसकी जानकारी घरवालों के साथ मृतक के भाई युवराज ने पुलिस को दी है। घरवालों ने पुलिस को बताया कि अरूण के मोबाइल पर अक्सर रविवार को फोन आता था। जिससे वो परेशान रहता था। फोन किसका आता था, यह किसी को पता नहीं है। पुलिस ने बताया कि अरुण का किसी के साथ रूपयों का लेन-देन भी था। जांच अधिकारी एसआई राधा बोरकर ने मृतक के मोबाइल फोन डिटेल निकालने की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि मोबाइल डिटेल खंगालेंगे। जांच के बाद ही मामले में आगे की कार्रवाई होगी।

Posted By: Ravindra Thengdi