HamburgerMenuButton

बिहार में NDA को 125 सीटों के साथ मिला बहुमत, महागठबंधन को 110 सीटें

Updated: | Wed, 11 Nov 2020 08:28 AM (IST)

Bihar Vidhan Sabha Chunav Result 2020: बिहार विधानसभा चुनाव के 243 सीटों के नतीजे सामने आ गए हैं। अब तक जीती हुई घोषित सीटों में से एनडीए को 125, महागठबंधन को 110 और एआइएमआइएम, बसपा व दूसरे दलों को 8 सीटें मिली है। इस तरह एनडीए ने बहुमत हासिल कर लिया है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बिहार की जनता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बधाई दी है। बिहार चुनाव में एनडीए के अच्‍छे प्रदर्शन पर दोनों नेताओं ने मंगलवार को बातचीत की। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी चुनाव जीत गए हैं। उन्‍होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी उदय नारायण चौधरी को हराया। इस चुनाव में कई दिग्‍गज चुनाव हार गए हैं। लालू प्रसाद यादव के समधी चंद्रिका राय परसा से चुनाव हार गए हैं। वे जदयू के टिकट पर चुनाव मैदान में किस्‍मत आजमा रहे थे। इधर नीतीश सरकार के नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा मुजफ्फरपुर से चुनाव हार गए हैं।

राजनीति गरमाई, महागठबंधन ने लगाया गड़बड़ी का आरोप

मतगणना में राजग को बढ़त मिलते ही बिहार की राजनीति गर्म हो गई है। महागठबंधन के घटक दलों ने राजग पर मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। राजद और कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल देर रात चुनाव आयोग के पास शिकायत लेकर पहुंचा। शिकायत में कहा कि नीतीश कुमार के इशारे पर कुछ अधिकारी मतों की गिनती में हेरफेर कर महागठबंधन के प्रत्याशियों को पीछे दिखा रहे हैं। राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि लोकतंत्र की हत्या करने का प्रयास है। राजद के प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि मतगणना में मामूली अंतर से आगे चल रहे महागठबंधन के प्रत्याशियों को आखिरी वक्त पर पीछे दिखा दिया। ऐसे एक दर्जन से ज्यादा सीटें हैं, जिन पर रिटर्निंग अफसर पर दबाव डालकर जीते हुए प्रत्याशी को हरा दिया गया है। आयोग को इस पर संज्ञान लेना चाहिए। राजद ने आयोग को 119 सीटों की सूची भी सौंपी है, जिसमें बताया गया है कि उसके प्रत्याशियों को जीत के लिए रिटर्निंग अफसरों ने बधाई भी दी है, लेकिन अब जीत का प्रमाणपत्र नहीं दिया जा रहा है। कहा जा रहा है कि अब आप हार गए, जबकि चुनाव आयोग की वेबसाइट भी इन्हें जीता हुआ दिखा रही है। प्रतिनिधि मंडल में कांग्रेस महासचिव तारिक अनवर, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, अखिलेश प्रसाद सिंह और संजीव कुमार सिंह भी शामिल थे।

बिहार चुनाव परिणाम की अब तक की बड़ी बातें

3.49PM: बिहार में भाजपा के मुख्यमंत्री की मांग उठने लगी है। बिहार में भाजपा एससी मोर्चे के प्रमुख अजित कुमार ने कहा है कि भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है, इसलिए भाजपा का मुख्यमंत्री होना चाहिए। कहा जा रहा है कि अब यह भाजपा और जेडीयू के बीच सबसे बड़ा मुद्दा हो सकता है। जेडीयू का दावा है कि लोगों ने नीतीश को वोट दिया है।

3.27PM: बिहार में एनडीए की सरकार बनती नजर आ रही है, लेकिन आरजेडी ने उम्मीद नहीं छोड़ी है। पार्टी की ओर से ट्वीट किया गया है कि हम सभी क्षेत्रों के उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं से संपर्क में है और सभी जिलों से प्राप्त सूचना हमारे पक्ष में है। देर रात तक गणना होगी। महागठबंधन की सरकार सुनिश्चित है। बिहार ने बदलाव कर दिया है। सभी प्रत्याशी और काउंटिंग एजेंट मतगणना पूरी होने तक काउंटिंग हॉल में बने रहें।

2.49PM: भाजपा एक्शन में आ गई है। शाम पांच बजे दिल्ली में बड़े नेताओं की बैठक बुलाई है, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और अमित शाह शामिल होंगे। हर चुनाव के बाद भाजपा संसदीय दल की बैठक होती है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल होते हैं। इसमें आगे की रणनीति पर चर्चा होगी। कहा जा रहा है कि पार्टी नेता फाइनल चुनाव परिणाम का इंतजार कर रहे हैं।

1.38PM: भाजपा ने साफ कर दिया है कि यदि प्रदेश में एनडीए की सरकार बनती है तो बिहार में नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बनेंगे। भाजपा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने यह बात कही है। जायसवाल के मुताबिक, भाजपा चार बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी और आधिकारिक बयान जारी करेगी।

1.30PM: सवाल उठने लगे हैं कि नीतीश कुमार की अगुवाई में जिस तरह से उनकी पार्टी का प्रदर्शन रहा है तो क्या नीतीश कुमार को फिर से मुख्यमंत्री बनना चाहिए? माना जा रहा है कि सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण भाजपा को मुख्यमंत्री का पद मिल सकता है। इस पर दोनों दलों के नेता अभी कुछ बोलने को राजी नहीं है, लेकिन फाइनल रिजल्ट आने के बाद पर चर्चा शुरू हो सकती है।

12.02PM: बिहार में लोकजनशक्ति पार्ट और निर्दलीय निर्णायक भूमिका निभा सकते हैं। अभी निर्दलीय उम्मीदवार 11 सीटों पर आगे चल रहे हैं। वहीं पासवान की पार्टी लोजपा के खाते में चार सीट जाती दिख रही है। वहीं भाजपा, जेडीयू और आरजेडी की करीब 30 सीटें ऐसी हैं जहां दोनों प्रत्याशियों के बीच 1000 से कम मतों का अंतर है। हसनपुर सीट से लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव आगे हो गए है। छह राउंड तक वो जेडीयू के राजकुमार राय से पीछे चल रहे थे।

11.24AM: एनडीए की स्थिति और मजबूत हो गई है। अब तक मिले रुझानों में 127 सीटों के साथ नीतीश कुमार एक बार फिर मुख्यमंत्रीा बनने जा रहे हैं। वहीं महागठबंधन 104 सीटों पेर सिमटता नजर आ रहा है। पासवान की पार्टी को छह सीट मिल सकती है। अन्य के खाते में 7 सीट जा सकती हैं। 71 सीटों के साथ भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

10.44AM: अब सभी की नजर चिराग पासवान पर है। सवाल है कि क्या कुछ सीटें कम पड़ने पर एनडीए उनसे समर्थन मांग सकती है। लोकजनशक्ति पार्टी को चार से छह सीट मिल सकती है।

10.44AM: चुनाव आयोग की वेबसाइट के मुताबिक, अब तक 243 में से 200 सीटों के रुझान आए हैं। इनके मुताबिक, एनडीए 102 सीटों पर आगे है। इनमें भाजपा के खाते में 54 सीट, JDU को 42 और विकासशील इन्सान पार्टी को 5 और मांझी की पार्टी HAM को 1 सीट मिलती दिख रही है। दूसरी और महागठबंधन 88 सीटों पर आगे है, जिनमें RJD को सबसे ज्यादा 57 सीट जाती दिख रही है। कांग्रेस को 17 और लेफ्ट को 14 सीट मिलती दिख रही है। बसपा एक सीट पर आगे चल रही है, वहीं BSP एक सीट पर, लोजपा 4 सीट पर, AIMIM दो सीट पर आगे चल रहे हैं। निर्दलीय के खाते में 3 सीट जाती दिख रही है।

10.40AM: लोगों में नीतीश कुमार के खिलाफ गुस्सा है। एनडीए की लाज भाजपा ने बचाई है। वहीं आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी है। उसे जितनी सीटें मिल रही हैं, बाकी दल उसके आसपास भी नहीं हैं।

10.94AM: इससे पहले मतगणना शुरू होने के पहले घंटे में ही तेजस्वी ने शतक लगा लिया था। महागठबंधन में आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी है, वहीं एनडीए में भाजपा सबसे बड़ी बनती दिख रही है। थोड़ी देर में साफ हो जाएगा कि बिहार की जनता ने अगले पांच साल सेवा का मौका किसे दिया है, मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार या आरजेडी के तेजस्वी यादव। दिन में दो या तीन बजे तक तस्वीर पूरी साफ हो जाएगी। एग्जिट पोल के मुताबिक इस बार बिहार में सत्ता परिवर्तन होने जा रहा है। यानी सुशासन बाबू का सफर यही थम जाएगा। महागठबंधन विजयी होता है तो तेजस्वी यादव के लिए इससे बड़ा बर्थडे गिफ्ट कोई दूसरा नहीं होगा।

9.00AM: : बिहार विधानसभा चुनाव का पहला रुझान एनडीए के पक्ष में आया है। भाजपा दो सीट पर आगे चल रही है। ताजा खबर लिखे जाने तक एनडीए सोलह सीट पर तो महागठबंधन 20 सीटों पर आगे चल रहे हैं। पूर्णिया में भाजपा आगे चल रही है। औरंगाबाद से बीजेपी प्रत्याशी रामाधार सिंह अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी आनंद शंकर सिंह से 941 वोटों से आगे चल रहे हैं। मुजफ्फरपुर के पारु व बरूराज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी आगे।

मधुबनी जिले के 10 विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना शुरू हो चुकी है। मतगणना की शुरुआत पोस्टल बैलट से हुई है। विभिन्न दलों के अभिकर्ता मतगणना केंद्र के भीतर पहुंच चुके हैं।

8.00AM: : मतगणना के लिए चुनाव आयोग ने व्यापक बंदोबस्त किए हैं। कोरोना महामारी देखते हुए शारीरिक दूरी का पालन करने को कहा गया है। साथ ही मास्क और सैनेटाइटज वितरित किए गए हैं। बिहार चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक, 38 जिलों में 55 मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। नियमानुसार पहले सबसे पहले बैलेट पेपर से डाले गए मतपत्रों की गणना होगी। सुबह 8:15 बजे ईवीएम से गणना की शुरुआत हो पाएगी।

7.44AM: : बिहार में तीन चरण में मतदान हुआ है। पहले चरण के लिए 28 अक्टूबर को, दूसरे चरण के लिए 3 नवंबर को और तीसरे चरण के लिए 7 नवंबर को वोट पड़े थे। जदयू और भाजपा ने अन्य छोटे सहयोगी दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ा, वहीं महागठबंधन में मुख्य रूप से लालू यादव की पार्टी और कांग्रेस रहे। आखिरी चरण के चुनाव प्रचार के दौरान नीतीश कुमार ने कहा था कि यह उनका आखिरी चुनाव होगा।

आज है नतीजों का दिन

बिहार विधानसभा चुनाव का ताजा परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें

यूपी विधानसभा उपचुनाव का ताजा परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें

मध्यप्रदेश विधानसभा उपचुनाव का ताजा परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें

गुजरात विधानसभा उपचुनाव का ताजा परिणाम जानने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Arvind Dubey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.