HamburgerMenuButton

क्लाइमेट वॉरियर बनी यंग स्टार भूमि पेडणेकर, अपनी बिल्डिंग में चला रही सौर ऊर्जा अभियान

Updated: | Tue, 19 Jan 2021 05:41 PM (IST)

मुंबई । हमें उम्मीद है कि हमारी पूरी बिल्डिंग वैकल्पिक ऊर्जा शक्ति से चलने लगेगी। ये कहना है क्लाइमेट वारियर व यंग स्टार अभिनेत्री भूमि पेडणेकर का, जो अपनी बिल्डिंग के रहिवासियों को अपने घर धीरे-धीरे पूरी तरह से रहने की एक सस्टेनेबल जगह में बदलने के लिए मनाने में जुटी हैं। भूमि पेडणेकर पर्यावरण के नजरिए से एक ऐसी सचेत नागरिक हैं, जिन्होंने लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए क्लाइमेट चर्चा को किसी अभियान की तरह अपने हाथ में ले रखा है।

भूमि एक बहु-प्रशंसित ऑनलाइन एवं ऑफलाइन एडवोकेसी पहल ‘क्लाइमेट वारियर’ को संचालित करती हैं, जिसके माध्यम से वह पर्यावरण संरक्षण की दिशा में योगदान करने के लिए भारत के नागरिकों को गोलबंद कर रही हैं और यकीनन ऐसा जान पड़ता है कि भूमि अपनी जुबान की खरी हैं, क्योंकि उनके खुलासे के मुताबिक वह अपने पड़ोसियों को अपनी अपार्टमेंट बिल्डिंग सौर-ऊर्जा से चलाने के लिए राजी करने में जुटी हुई हैं।

भूमि बोली, जीवनशैली बदलने की जरूरत है

“आपकी जीवनशैली में बदलाव की जरूरत है। आयडिया यह है कि मैं जब भी प्राकृतिक संसाधनों को खर्च करूं तो हर बार सचेत रहूं, इसलिए अब हम प्लास्टिक की बोतलें बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं करते। मेरा घर सोलर इनर्जी से चलता है और हम उम्मीद कर रहे हैं कि हमारी पूरी बिल्डिंग सौर ऊर्जा से चलने लगे। क्या आपको पता है कि यह सब कैसे संभव हुआ है? ऐसा इसलिए हुआ है कि मैं इस चर्चा को अपने इकोसिस्टम में बीते कुछ वर्षों से लगातार छेड़े हुए हूं, इसलिए आज मेरी बिल्डिंग में हर कोई कंपोस्ट बना रहा है। हर कोई कचरा निकलने की जगह पर ही उसे अलग कर रहा है। रीसाइक्लिंग में हमारा योगदान देखकर मुझे बेहद खुशी होती है और यह जान कर सुकून मिलता है कि हम जीने का पहले से ज्यादा जागरूक तरीका अपना रहे हैं,”

इस वर्सेटाइल एक्ट्रेस ने अपनी मां की मदद से अपने घर के निजी टेरेस पर एक छोटा-सा सस्टेनेबल गार्डन भी तैयार कर लिया है। भूमि ने हाल ही में ग्लोबल एडवोकैसी प्लेटफॉर्म ‘कॉन्टैक्ट अस’ के साथ उनके ब्रांड एम्बेसडर के रूप में हाथ मिलाया है तथा देश में भविष्य के क्लाइमेट वारियर तलाशने के लिए बीबीसी अर्थ के साथ भी सहभागिता की है। समाज में बदलाव लाने तथा क्लाइमेट को लेकर जागरूकता उत्पन्न करने की दिशा में किए जा रहे उनके प्रयास वाकई तारीफ के काबिल हैं।

Posted By: Sandeep Chourey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.