Anuppur Crime News : शोध छात्रा के दुष्कर्म शिकायत के बाद प्रोफेसर राकेश सिंह को सभी प्रशासनिक पदों से मुक्‍त किया

Updated: | Sat, 16 Oct 2021 07:18 PM (IST)

अनूपपुर, नईदुनिया प्रतिनिधि। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय अमरकंटक में पदस्थ प्रोफेसर राकेश सिंह को विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा शनिवार को समस्त प्रशासनिक पदों एवं दायित्व से मुक्त कर दिया गया है। विश्वविद्यालय प्रशासन ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि संस्थान को एक शोध छात्रा की शिकायत मिली जिसके बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्रोफेसर के विरुद्ध कार्रवाई की है। शोध छात्रा ने प्रोफेसर राकेश सिंह के ऊपर शादी का प्रलोभन देकर और धमकी देते हुए दुष्कर्म किए जाने की शिकायत दर्ज कराई है। शहडोल महिला थाना ने प्रोफेसर के विरोध 376 का अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

शिकायत के बाद की कार्रवाई : शोध छात्रा ने पुलिस के साथ ही विश्वविद्यालय प्रशासन को भी प्रोफेसर के विरुद्ध शिकायत प्रस्तुत की है। इन्हीं शिकायतों के बाद प्राप्त तथ्यों के आधार पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्रारंभिक तौर पर निर्णय लेते हुए प्रोफेसर के समस्त दायित्वों और पदों को छीन लिया है। बताया गया है कि पीड़ित शोध छात्रा शहडोल में रहकर विश्वविद्यालय में पीएचडी कर रही है। वर्ष 2020 में प्रोफेसर राकेश सिंह शहडोल में उक्त छात्रा के कमरे पहुंचे थे और शादी का प्रलोभन देकर जबरन शारीरिक संबंध बनाए थे। इसके बाद लगातार शोध छात्रा का शारीरिक शोषण किया जाता रहा। 25 सितंबर 2011 को प्रोफेसर राकेश सिंह अमरकंटक एक होटल में छात्रा को लेकर गए थे जहां रजिस्टर में उनके होटल में रुकने की जानकारी भी अंकित है। उक्त शोध छात्रा विवाहित भी है और अपने ऊपर हुए ज्यादती की जानकारी जब पति को दी तो पति ने वैवाहिक संबंध विच्छेद कर लिया। अब महिला अकेले जीवन यापन कर रही है और 5 अक्टूबर को शहडोल महिला थाना सहित विश्वविद्यालय प्रशासन से प्रोफेसर राकेश सिंह के विरुद्ध शिकायत दर्ज करा न्याय की गुहार लगाई है। प्रोफेसर राकेश सिंह जनजातीय विश्वविद्यालय में इतिहास विभाग के विभागाध्यक्ष, सामाजिक विज्ञान संकाय के संकायाध्यक्ष, समाज कार्य विभाग के विभागाध्यक्ष, डा. आंबेडकर चेयर प्रकोष्ठ के प्रभारी निदेशक, शिक्षा परिषद के सदस्य और कार्य परिषद के सदस्य जैसे पदों पर हैं। शहडोल महिला थाना द्वारा बताया गया 13 अक्टूबर को प्रोफेसर राकेश सिंह के विरुद्ध धारा 376 का अपराध पंजीबद्ध किया गया है। आरोपित प्रोफेसर राकेश सिंह फरार बताए गए हैं।

................

पीड़ित शोध छात्रा ने विश्वविद्यालय प्रशासन से प्रोफेसर राकेश सिंह के विरुद्ध कई गंभीर आरोप लगाए हैं। शहडोल पुलिस द्वारा भी इस मामले में अपराध पंजीबद्ध किए जाने की जानकारी मिली है। प्रोफेसर राकेश सिंह को सभी प्रशासनिक पदों से मुक्त कर दिया गया है।

- राकेश दीक्षित, जनसंपर्क अधिकारी इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय अमरकंटक

Posted By: Brajesh Shukla