HamburgerMenuButton

Balaghat Crime News : इंटरनेट मीडिया पर अधिवक्ताओं पर अभद्र टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

Updated: | Tue, 15 Jun 2021 04:33 PM (IST)

बालाघाट, नईदुनिया प्रतिनिधि। अधिवक्ताओं के खिलाफ ग्राम परसाटोला भंडेरी के धनंजय चौधरी ने इंटरनेट मीडिया पर अभद्र टिप्पणी की। जिसकी रिपोर्ट अधिवक्ताओं ने पुलिस थाना बैहर में दर्ज करवाई थी। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार किया, लेकिन थाना से ही आरोपित को छोड़ दिया। पुलिस द्वारा आरोपित पर कोई कार्रवाई नहीं किए जाने से आक्रोशित अधिवक्ताओं ने पुलिस की कार्यप्रणाली के विरोध में 14 जून से न्यायालय परिसर में ही अनिश्चितकालीन प्रतिकार दिवस मनाने एवं न्यायालयीन कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया है। इतना ही नहीं न्यायालय परिसर में पुलिस के प्रवेश करने पर विरोध कर रहे हैं। अधिवक्तागण दूसरे दिन 15 जून को भी न्यायालय कार्य से विरत रहे।

12 जून को बैहर थाना में करवाई थी रिपोर्ट : अधिवक्ता संघ बैहर के अध्यक्ष टीआर बघेले ने बताया कि बैहर में करीब 60 अधिवक्ता है। 11 जून को इंटरनेट मीडिया पर धनंजय चौधरी ने अधिवक्ताओं को आहत करने वाली एक टिप्पणी करते हुए पोस्ट की थी। जिसकी 12 जून को बैहर थाना में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर सख्त कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया था, पर कार्रवाई करने की बजाए उसे थाने से ही छोड़ दिया। इसके बाद फिर आरोपित ने अधिवक्ताओं को चेतावनी भरी इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट कर दी गई। पुलिस थाना बैहर की लापरवाही पूर्ण कार्य व आरोपित को संरक्षण देने से अधिवक्ता संघ के सदस्यों में अत्यधिक रोष व्याप्त है। जिसके चलते 13 जून को अधिवक्ता संघ बैहर की आकस्मिक बैठक आहूत की गई। जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि अधिवक्ता संघ बैहर के सदस्यों के विरूद्ध अशोभनीय एवं अपमान जनक टिप्पणी इंटरनेट मीडिया में प्रसारित करने वाले व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई ना करते हुए उसे संरक्षण देने वाले बैहर पुलिस के विरोध में उक्त व्यक्ति के विरूद्ध कार्रवाई होने तक न्यायालयीन कार्य से विरत रहकर पुलिस के न्यायालय परिसर में प्रवेश का विरोध कर रहे हैं। इसके लिए पुलिस की कार्यप्रणाली के विरोध में 14 जून से अधिवक्ता संघ बैहर के निर्णय के अनुसार अनिश्चितकालीन प्रतिकार दिवस मनाने एवं न्यायालयीन कार्य से विरत हो गए हैं।

थाना प्रभारी को हटाने की मांग : अधिवक्ता संघ बैहर ने आरोपित को संरक्षण देने वाले पुलिस थाना प्रभारी बैहर जीएल उइके का तत्काल स्थानांतरण करने की भी मांग कर रहा है। जब तक अधिवक्ता संघ की मांगें पूरी नहीं हो जाती है। तब तक न्यायालयीन कार्य से विरत रहकर न्यायालय परिसर में पुलिस के प्रवेश करने पर विरोध करते रहेंगे। न्यायालय कार्य से विरत रहने वाले अधिवक्तागण में अध्यक्ष के अलावा उपाध्यक्ष दीपक वासनिक, सचिव ऋषिकांत प्यासी, सहसचिव देवेंद्र गजभिये, सुनिल बेले, रवि बेले, राजा चौधरी, आरके चौहान, शहीद खान सहित अन्य शामिल हैं।

Posted By: Brajesh Shukla
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.