Amazon में रजिस्टर्ड मिलीं आनलाइन गांजा तस्करी करने वाली छह और कंपनियां

Updated: | Fri, 26 Nov 2021 07:29 PM (IST)

-कंपनी की ओर से पुलिस को दी गई जानकारी: एसपी

भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि)। अमेजन के प्लेटफार्म का उपयोग कर छह और कंपनियों ने विशाखापत्तनम से देशभर में गांजा सप्लाई किया है। एसपी मनोज कुमार सिंह का कहना है कि अमेजन की ओर से गोहद चौराहा पुलिस को भेजी गई प्रश्नावली के जवाब में यह तथ्य सामने आया है। एसपी का कहना है कि इन छह कंपनियों के पते वहीं हैं, जो पूर्व में पकड़ में आई बाबू टैक्स कंपनी के सेलर का है। साथ ही ग्राहकों के नाम और पते भी एक हैं। वहीं शुक्रवार को अमेजन की ओर से लीगल हेड स्वाति, वकील सुमंत नारंग सहित चार लोग एसपी से मिले हैं। अमेजन के प्रतिनिधिमंडल ने मीडियाकर्मियों से पूरी तरह से दूरी बनाए रखी।

तीन माह में 720 किलो गांजे की तस्करी

एसपी मनोज कुमार सिंह ने प्रेसवार्ता में बताया कि गोहद चौराहा पुलिस ने 13 नवंबर को दो आरोपितों को पकड़कर उनके पास से 21 किलो से ज्यादा गांजा जब्त किया था। इस मामले में पड़ताल आगे बढ़ी तो अमेजन के कार्यकारी निदेशकों को आरोपित बनाया गया। इस दौरान ई-मेल पर पुलिस ने अमेजन को प्रश्नावली भेजी थी। प्रश्नावली के जवाब अमेजन की ओर से दिए गए। उसमें अमेजन ने यह तथ्य दिया कि छह और कंपनियां हैं, जिनसे उन्हीं लोगों के नाम पते पर कढ़ी पत्ते के नाम से दो-दो किलो के 360 पैकेट डिलीवरी दी गई है, जिन्हें पूर्व में विशाखापट्टनम से बाबू टैक्स ने कढ़ी पत्ते के नाम पर आनलाइन गांजा तस्करी की थी। एसपी का कहना है इन छह कंपनियों के जरिए तीन माह में 720 किलो गांजे की आनलाइन तस्करी की गई है।

अमेजन का प्रतिनिधि मंडल एसपी से मिला

शुक्रवार दोपहर में अमेजन की ओर से चार सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने एसपी मनोज कुमार सिंह से बात की है। प्रतिनिधिमंडल में अमेजन की लीगल हेड स्वाति और अमेजन के दिल्ली से आए वकील सुमंत नारंग थे। एसपी से मिलने के बाद अमेजन का प्रतिनिधि मंडल अपनी गाड़ी में बैठकर रवाना हो गया। उन्होंने मीडियाकर्मियों से किसी तरह की बात नहीं की। एसपी ने प्रतिनिधि मंडल से कहा है कि अमेजन पुलिस जांच में सहयोग नहीं कर रहा है। एसपी ने अमेजन को पुलिस जांच में सहयोग करने के लिए कहा है।

कल्लू के खाते से 47 लाख का लेनदेन

एसपी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि 13 नवंबर को गोहद चौराहा पुलिस की पहली कार्रवाई में अमेजन से आनलाइन गांजा तस्करी करने वाला कल्लू उर्फ सूरज पवैया को पकड़ा गया था। पुलिस ने पड़ताल की और सूरज पवैया के बैंक खाते खंगाले तो उसके अकाउंट से 47 लाख रुपए का लेनदेन होना पाया गया है। एसपी का कहना है कि अमेजन में जो छह कंपनियां और रजिस्टर्ड हैं, उनसे भी बाबू टैक्स कंपनी की तरह कढ़ी पत्ते के नाम पर गांजा सप्लाई किया जाना प्रतीत हो रहा है। इनके ग्राहक, बुकिंग करने वाले अकाउंट एक ही हैं।

वर्जन:

अमेजन के प्रतिनिधि मंडल ने मुलाकात की है। उनसे भी कहा है कि अमेजन पुलिस जांच में सहयोग करे। अभी इस मामले में पड़ताल जारी है।

मनोज कुमार सिंह, एसपी, भिंड

Posted By: anil.tomar