गर्मी में सतर्कता जरूरी, खुले में बिक रही खाद्य सामग्री के उपयोग से बचें

गर्मी के दिनों में लोगों में संक्रामक बीमारी फैलने का खतरा अधिक रहता है।

Updated: | Sun, 22 May 2022 12:01 PM (IST)

गोरमी(नईदुनिया प्रतिनिधि)। गर्मी के दिनों में लोगों में संक्रामक बीमारी फैलने का खतरा अधिक रहता है। फिर भी नगर के कई स्थानों पर खुले में खाद्य सामग्री को बेचा जा रहा है। जिन्हें ढंककर न रखने के कारण मक्खियां व धूल से खाद्य सामग्री दूषित हो रही है। ऐसे में इनका उपयोग करने से बीमारियों का खतरा बढ़ रहा है। उसके बाद भी जिम्मेदार इन दुकानदारों को समझाइश व कार्रवाई करने की पहल नहीं कर रहे हैं। खाद्य विभाग भी मात्र नमूने लेकर इतिश्री कर लेता है, लेकिन नमूना पास हुआ या फेल यह कभी नहीं बताया जाता है।

शहर की कई दुकानों पर समोसा व आलूबड़ा में उपयोग होने वाले आलू को एक दिन पहले ही पका लिया जा रहा है। दूसरे दिन इसे खाद्य पदार्थों में मिलाकर ग्राहकों को बेच दिया जाता है, लेकिन भीषण गर्मी के कारण रात में इन आलू में सड़न पैदा हो जाती है। जिससे लोगों में बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। गर्मी के मौसम में डॉक्टर बासी और सड़े गले पदार्थों को न खाने की सलाह देते हैं। खुले में रखी खाद्य सामग्री बेचने के मामले में मेहगांव-पोरसा मार्ग अव्वल है। यहां बसों के इंतजार में बैठे यात्री ऐसी सामग्री खरीदकर साथ में बीमारियां मुफ्त में ले रहे हैं। यह सामग्री दिनभर वाहनों से उड़ने वाली धूल, गंदगी और रोगाणुओं से भरपूर होती है।

होटल पर कर रहे घरेलू सिलेंडर का उपयोगः

खाद्य विभाग की कार्रवाई के बाद भी नई में कई दुकानों पर अब भी घरेलू गैस का उपयोग हो रहा है। घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग दुकानों में होने से उपभोक्ताओं का परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही हादसा होने की आशंका भी बनी रहती है।

कार्रवाई तो दूर जांच तक नहीं होतीः

बाजार में खुले में और खराब खाद्य सामग्री बेचने वाले दुकानदारों पर कार्रवाई तो दूर खाद्य सामग्री की सैंपल तक नहीं लिए जाते हैं। इस वजह से बिना किसी डर के दुकानदार लोगों को दूषित खाद्य सामग्री थमा रहे हैं। जिसके उपयोग से डायरिया, लूज मोशन हो सकता है।

भोजन में सावधानी बरतें:

वहीं जिला अस्पताल के आरएमओ डॉ आरएन राजौरिया का कहना है कि गर्मी के मौसम में खुले में रखी खाद्य सामग्री, सड़े गले फल, तली हुई वस्तुओं को नहीं खाना चाहिए। इससे अनेक प्रकार की बीमारी हो सकती हैं। पानी अधिक मात्रा में पीएं। वहीं तला भुना कम प्रयोग करें, सड़क पर मिलने वाले खुले सामान का प्रयोग न करें, चायनीज फूड से बचे। वहीं घर के बनें खाद्य पदार्थ का इस्तेमाल करें, तले भुने भोजन का प्रयोग कम से कम करें।

-बाजार में खुले में बिक रही खाद्य सामग्री जांच के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया जाएगा।

शिवदत्त कटारे, तहसीलदार गोरमी

Posted By: Nai Dunia News Network
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.