HamburgerMenuButton

Bhopal Crime News: गोद लिए बेटे ने की धोखाधड़ी, पिता के बैंक खाते से निकाले साढ़े बारह लाख रुपये

Updated: | Sun, 24 Jan 2021 08:48 AM (IST)

भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोलार इलाके में एक सेवानिवृत्‍त प्राध्यापक के गोद लिए बेटे ने धोखाधड़ी करते हुए उनके बैंक खाते से साढ़े बारह लाख रुपए निकाल लिए। बाद में जब आरोपित को पछतावा हुआ तो उसने खुद ही अपने एक दोस्त से पिता को इसकी जानकारी भी दिलवा दी। पिता को सबसे ज्यादा धक्का इस बात का लगा कि जिस बेटे को उन्होंने डेढ़ माह का गोद लिया था, उसे वह अच्छा इंसान नहीं बना पाए। पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर आरोपित को हिरासत में ले लिया है।

कोलार थाने के एसआइ गजेंद्र जौहारिया के अनुसार महाबली नगर में रहने वाले 75 वर्षीय रहमान अली सेवानिवृत्‍त प्राध्यापक हैं। उनका 25 वर्षीय बेटा आकिब अली उनके साथ ही रहता है। अकिब एमकॉम कर चुका है। अकिब ने बीते एक साल में उनके पेंशन के बैंक खाते से करीब 12 लाख 41 हजार रुपये एटीएम से निकाल लिए, जिसकी उनको भनक तक नहीं लगी। जब बैंक खाते में रकम खत्म हो गई तो आरोपित बेटे ने अपने दोस्त के जारिये अपने पिता तक इस चोरी की जानकारी भी दिलवा दी। पिता को पता चला तो पहले तो उन्होंने उसे माफ करने का मन बना लिया था, लेकिन जब वह उनको धमकाने लगा तो उन्होंने पुलिस में धोखाधड़ी की एफआइआर दर्ज कराई।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम

एसआइ गजेंद्र जोहरिया ने बताया कि अक्टूबर 2020 को रहमान अली ने बेटे से कहा था कि लैंडलाइन फोन कटवा दो। इसका कोई उपयोग नहीं बचा है। इस पर बेटा फोन कंपनी के ऑफिस से एक फॉर्म लाया। उसी दौरान वह बैंक शाखा से पिता के पेंशन खाते का नया एटीएम फार्म और अथॉरिटी लेटर फार्म भी लेकर आ गया और चालाकी से पिता से भरवा लिया। पिता को फार्म पर हस्ताक्षर करते समय कुछ गड़बड़ की आशंका हुई थी, लेकिन उसने पिता से झूठ बोल दिया कि फोन कटने के बाद जो पैसा आएगा, उसके लिए फार्म है। पिता ने बेटे पर भरोसा कर फार्म पर हस्ताक्षर कर दिए। बाद में बेटे ने एटीएम हासिल किया और एप के माध्यम से रकम को निकालकर गोवा, दिल्ली, मुंबई, जम्मू कश्मीर में घूमने-फिरने पर खर्च कर दिए।

डेढ़ माह का था आकिब, तब गोद लिया था

पुलिस जांच में सामने आया है कि आरोपित को डेढ़ माह की उम्र में पीड़ित सेवानिवृत्‍त प्राध्यापक ने गोद लिया था। उनके खुद की कोई औलाद नहीं थी। उन्होंने अपनी पत्नी के साथ उज्जैन में नौकरी के दौरान उसे गोद लिया था।

फटकार से नाराज था

कॉलेज में प्रवेश के समय आकिब का पढाई-लिखाई में कम ध्यान था तो पिता डांटते- फटकारते रहते थे। इसी दौरान उसे पता चला कि रहमान अली उसके असली पिता नहीं हैं तब से वह घर से रकम चोरी करने लगा था। तक वह कम रकम चुराया करता था। इस घटना के बाद बेटे को चोरी करने का अफसोस है।

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.