Astronomical event: दो अगस्त को होगा शनि से पृथ्वी का सामना

Updated: | Sat, 31 Jul 2021 02:08 PM (IST)

Astronomical eventभोपाल (नवदुनिया रिपोर्टर)। दो अगस्त को मकर तारामंडल में स्थित शनि से पृथ्वी का सामना होने जा रहा है। इसमें सूर्य की परिक्रमा करता हुआ शनि, पृथ्वी और सूर्य तीनों एक तरफ रहते हुए सीधी रेखा में होंगे। नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि यह खगोलीय घटना सेटर्न एट अपोजिशन कहलाती है।

सारिका ने बताया कि यह इस साल के लिये शनि की पृथ्वी से सबसे नजदीकी दूरी होगी। इससे यह अपेक्षाकृत अधिक चमकीला और कुछ बड़ा दिखेगा। अगर आप टेलिस्कोप से शनि को देखेंगे तो इसके रिंग 18 डिग्री के झुकाव पर होंगे। यह 0.2 मैग्नीट्यूड की चमक के साथ आकाश में होगा।

अगर बादल बाधा न बनें तो शाम लगभग सात बजकर 51 मिनिट पर यह पूर्वी आकाश में उदित हुआ दिखकर रात भर आकाश में रहकर सुबह पांच बजकर छह मिनिट पर अस्त होगा। मध्यरात 12 बजकर 29 मिनिट पर यह आकाश पर ठीक सिर के उपर होगा।

सारिका ने बताया कि शनि (सेटर्न ) सौर परिवार का छठवां ग्रह है और यह सूर्य मंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है। अगर काल्पनिक रूप से सूर्य से पृथ्वी की दूरी 10 यूनिट है तो शनि 96 यूनिट दूर है। सूर्य का प्रकाश यहां तक पहुंचने में लगभग 83 मिनिट लगते हैं। इसके 82 चंद्रमा अब तक खोजे जा चुके हैं, जिनमें से 53 की पुष्टि हो चुकी है।

सेटर्न अपोजीशन की आगामी घटनाएं

सारिका ने जानकारी दी कि शनि , सूर्य की परिक्रमा लगभग 29 साल 6 महने में पूरी करता है। पृथ्वी सूर्य की परिक्रमा 365 दिन में करती है। इससे पृथ्वी परिक्रमा करते हुए लगभग एक साल और 13 दिन बाद पुनः शनि की सीध में आ जाती है।

14 अगस्त 2022

27 अगस्त 2023

8 सि तंबर 2024

Posted By: Lalit Katariya