Bhopal Crime News: एम्‍स में फर्जीवाड़ा, टेंडर के बजाय कोटेशन से कर ली सवा तीन करोड़ रुपये की खरीदी

Updated: | Tue, 28 Sep 2021 11:38 AM (IST)

भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सीबीआइ द्वारा एम्स भोपाल के उपनिदेशक (प्रशासन) धीरेंद्र सिंह को एक लाख रुपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद गड़बड़ी की परतें खुल रही हैं। एम्स भोपाल में कोरोना संक्रमण के दौरान जनऔषधि केंद्र से दवाएं, दस्ताने और अन्य सामान की खरीदी सिर्फ कोटेशन के आधार पर की गई थी। करीब सवा तीन करोड़ रुपये की खरीदी की गई थी। इसमें 40 लाख रुपये छोड़ बाकी के बिलों का भुगतान भी कर दिय गया था। बाद में खरीदी समिति के ही कुछ सदस्यों ने आपत्ति की थी कि सामग्री की दरें खुदरा मूल्य से ज्यादा हैं। दूसरी बात यह कि दवाएं और कुछ सामान ब्रांडेड खरीदा जा रहा था जो कि जन-औषधि केंद्र से नहीं खरीदा जा सकता। इस आपत्ति के बाद एम्स प्रबंधन ने खरीदी के आर्डर जारी करने के बाद भी जनऔषधि केंद्र से 70 लाख रुपये की दवाएं लेने से मना कर दिया था। औषधि केन्द्र संचालक रामचंद्र का कहना है कि यह सामग्री उन्होंने किसी तरह से दूसरी जगह खपाई।

उनका कहना है कि जन-औषधि केन्द्र में पर्याप्त सामग्री नहीं आती, इसलिए खुदरा मूल्य में उपलब्ध कराने से मना कर दिया था। उधर, सीबीआई की टीम सोमवार को डायरेक्टर डॉ. सरमन सिंह के पास भी पहुंची थी। टीम एम्स में सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक रही। इस दौरान ईशा सिक्यूरिटी, अमृत फार्मेसी और जनऔषधि से खरीदी की फाइल भी सीबीआई की टीम लेकर गई है।

बैंक खातों में जमा एक करोड़ से अधिक की भी जांच

जांच एजेंसी धीरेंद्र, उनकी पत्नी और बेटों के बैंक खातों में जमा एक करोड़ स्र्पये से अधिक की राशि के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। धीरेंद्र के घर और कार्यालय से प्राप्त दस्तावेजों की पड़ताल की जा रही है। धीरेंद्र के पास दो बैंक लॉकर हैं। यह दोनों उन्हीं के नाम पर हैं। अभी इन्हें खोला जाना शेष है। सूत्रों का यह भी कहना है कि 450 ग्राम सोने के जेवर को लेकर दावा किया जा रहा है कि यह पुश्तैनी या रिश्तेदारों से उपहार में मिले हैं। धीरेंद्र का मूल विभाग इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ इंफार्मेशन टेक्नालॉजी एंड मैनेजमेंट ग्वालियर है। वह अक्टूबर 2020 से एम्स भोपाल में प्रतिनियुक्ति पर है। अभी आरोपित से सीबाआइ की पूछताछ चल रही है। कुछ और खुलासे होने की संभावना है।

Posted By: Ravindra Soni