Bhopal Dharam Samaj : पापकुंशा एकादशी पर उपवास रखने से पाप नष्ट हो जाते हैं और मुक्ति का मार्ग प्रशस्त होता है

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 06:10 PM (IST)

Bhopal Dharam Samaj :संत हिरदाराम नगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। पापकुंशा एकादशी पर उपवास रखने से पाप नष्ट होने लगते हैं और मुक्ति का मार्ग प्रशस्त हो जाता है भक्तों को एकादशी का महत्व बताते हुए कथावाचक नरेश पारदासानी ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि पापकुंशा एकादशी पापों के निवारण के लिए मनाई जाती है। यह पवित्र दिन है यह भगवान विष्णु का प्रिय दिन है। ईस दिन भगवान विष्णु का नाम जाप करने से तीर्थ पर जाने का पुण्य मिलता है।

प्रभु श्रीराम में ब्रह्मा विष्णु महेश की शक्तियां समाहित है

कथावाचक पारदासानी ने कहा कि लंकेश जब रणभूमि में युद्ध करने गया तब उसे भगवान श्री राम की शक्तियों का आभास हो गया था। रावण ने कहा भी था कि श्री राम कोई साधारण मानव नहीं है, मैंने इंद्र के वज्र, शिव के त्रिशूल और विष्णु के सुदर्शन चक्र का सामना किया है। श्रीराम का बाण जब कमान पर पड़ता है तब ब्रह्म के समान दिखाई देता है, और कमान से छूटता है तब सहस्त्र विष्णु के सामान दिखाई देता है और जब प्रहार करता है तो रुद्र के समान प्रलयंकारी बन जाता है। श्रीराम के बाणों की गति इतनी तीव्र है कि देवताओं की दृष्टि भी नहीं पकड़ पाती है। ऐसा प्रतीत होता है कि तीनों लोगों की शक्तियां राम में समाहित हैं। पारदासानी ने कथा के दौरान मारीच संवाद, रावण संवाद और गिद्धराज जटायु और प्रभु श्री राम का संवाद भी बताया। सुंदर वर्णन के द्वारा उनमें राम नाम की महिमा पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर पूजा-अर्चना हुई संगीत में भजन पेश किए गए। कार्यक्रम कृष्ण मंदिर परिसर में हुआ। आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया।

Posted By: Lalit Katariya