भोपाल के नए आर्च बिशप दुरईराज ने संभाला पदभार, मनोरम सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से हुआ स्वागत

Updated: | Sun, 28 Nov 2021 09:40 AM (IST)

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल महाधर्मप्रांत के चौथे आर्चबिशप एएएस दुरईराज ने शनिवार को पूर्ण विधि-विधान के साथ पदभार ग्रहण किया। अरेरा कालोनी स्थित सेंट जोसफ स्कूल के परिसर में नए आर्चबिशप का पद प्रतिष्ठापन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए नए महाधर्माध्यक्ष को गाजे-बाजे व नृत्य के साथ जुलूस में समारोह स्थल तक ले जाया गया। निवृतमान आर्चबिशप लियो कॉर्नेलियो ने स्वागत भाषण पढ़ा। इसके बाद नए आर्चबिशप ने निष्ठा की शपथ ली। इस अवसर पर भारत और नेपाल के प्रेरितिक राजदूत महाधर्माध्यक्ष लियोपोल्डो गिरेली ने संत पापा का प्रतिनियुक्ति पत्र पढ़कर सबको सुनाया। सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में आर्चबिशप लियो कार्नेलियो ने मेषपालीय दंड दुरईराज को सौंपा। इससे पूर्व दुरईराज खंडवा के बिशप के तौर पर नियुक्त थे। पद प्रतिष्ठापन समारोह में अनेक धर्माध्यक्षों, सैंकड़ों की संख्या में पुरोहितों, धर्मबहनों और विभिन्न धर्मप्रांतों के ख्रीस्तीयों ने भाग लिया। बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देकर नए बिशप का स्वागत किया। केक काटा गया। शाम 6.30 बजे अभिनंदन समारोह में सभी समुदायों के लोगों ने नए महाधर्माध्यक्ष का स्वागत करते हुए शुभकामनाएं दीं। कार्यक्रम में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व शिक्षा मंत्री, दीपक जोशी सहित बड़ी संख्या में आइएएस अधिकारी व शहर के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

नए आर्च बिशप का परिचय

आर्चबिशप अलंगारम अरोकिया सेबेस्टिन दुरईराज एसवीडी का जन्म तीन मई, 1957 को तमिलनाडु के मदुरै महाधर्मपांत के थिरुनगर में हुआ था। वह 1971 में सोसाइटी ऑफ द डिवाइन वर्ड (एसवीडी) में शामिल हुए। उन्होंने पीएमबी गुजराती साइंस कालेज, इंदौर से बीएससी की डिग्री हासिल की और गवर्नमेंट आर्ट्स एंड कामर्स कालेज, इंदौर में मनोविज्ञान में एमए किया। उनका आठ मई 1985 को थिरुनगर, मदुरै में पुराहिताभिषेक हुआ। उन्होंने शिकागो में लोयोला विश्वविद्यालय से परामर्श में स्नातकोत्तर डिग्री (एमएड) और पिट्सबर्ग (यूएसए) में डुक्सेन विश्वविद्यालय में काउंसिंलंग शिक्षा में डाक्टरेट किया है। उन्हें 16 जुलाई, 2009 को खंडवा मप्र के बिशप के रूप में नियुक्त किया गया। विगत 04 अक्‍टूबर को उन्‍हें पोप फ्रांसिस द्वारा भोपाल के आर्चबिशप के रूप में मनोनीत किया गया था।

Posted By: Ravindra Soni