Bhopal News: हम एकजुट हो जाएं तो राजधानी को बना सकते हैं स्वच्छता में नंबर वन - मुख्यमंत्री

रवींद्र भवन के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में स्‍वच्‍छता प्रहरियों का सम्‍मान किया जा रहा है।

Updated: | Fri, 27 May 2022 05:10 PM (IST)

भोपाल,नवदुनिया प्रतिनिधि। रविंद्र भवन में शुक्रवार को दोपहर साढ़े बारह बजे नगर निगम द्वारा आयोजित स्वच्छता सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री ने शहर को साफ रखने के बदले में बाजार रहवासी संघ, हाकर्स कार्नर को तीन करोड़ 17 लाख रुपये के अवार्ड दिए। इससे पहले उन्होंने रविंद्र भवन में मौजूद शहवासियों, रहवासी संघों, कर्मचारियों, अधिकारियों, व्यापारियों सहित सभी से कहा कि हम यदि एकजुट हो जाएं तो भोपाल को स्वच्छता में नंबर वन बना सकते हैं। शहर में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो अपने काम के साथ शहर के लिए भी काम कर रहे हैं। मैं उन लोगों के एक साथ दर्शन करना चाहता था तो मैंने यहां सभी को मेहमान के रूप में बुलाया है। कार्यक्रम में

मुख्यमंत्री ने पांच विशेष लोगों से बातचीत की और उनके द्वारा शहर में किए जा रहे काम को जाना। जिनके सम्मान में सभी ने तालियां बजाई। कार्यक्रम में जिले के प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, विधायक कृष्णा गौर, पूर्व महापौर आलोक शर्मा, जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी, पूर्व निगम अध्यक्ष सुरजीत सिंह चौहान मंच पर मौजूद थे। इनके अलावा कलेक्टर अविनाश लवानिया, निगम कमिश्नर केवीएस चौधरी कोलसानी, अपर आयुक्त ऋजु बाफना, एमपी सिंह समेत अधिकारी भी मौजूद रहे। बता दें कि भोपाल को स्वच्छता सर्वेक्षण में अच्छी रैंकिंग लाने और लोगों को स्वच्छता के लिए प्रेरित करने के मकसद से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह

चौहान ने यह घोषणा छह अप्रैल को स्वच्छता संवाद कार्यक्रम के दौरान की थी। इस प्रतियोगिता के लिए सभी जोन से 410 रहवासी संघों, 50 बाजारों और 10 हाकर्स कार्नर के प्रतिनिधियों ने तय मापदंडों पर आवेदन नगर निगम में जमा करवाए थे।

इन मापदंड के आधार पर तय किए गए थे 100 अंक

तय मापदंड के आधार पर 100 अंक रखे गए थे। इनमें कचरा सेग्रीगेशन, गारबेज फ्री परिसर, स्वच्छता जागरुकता गतिविधियां, सौंदर्यीकरण, सिटीजन फीडबैक और आन साइट कंपोस्टिंग शामिल थे। फील्ड इंस्पेक्शन के लिए मैनिट, आईआईएफएम, एसपीए, एप्को, एलएनसीटी, पालिटेक्निक, आरजीपीवी के अर्बन प्लानर्स, पर्यावरणविद और सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के एक्सपर्ट का ज्यूरी पैनल बनाया गया था। ज्यूरी पैनल से मिले इनपुट, एनालिसिस और असेसमेंट के आधार पर ही अंक दिए गए हैं।

10 नंबर मार्केट निकला सबसे आगे

राजधानी भोपाल को साफ रखने के बदले बाजार, रहवासी संघ और हॉकर्स कॉर्नर को तीन करोड़ 17 लाख रुपये का अवॉर्ड बतौर इनाम मिला। 50 बाजारों की प्रतियोगिता में 10 नंबर मार्केट आगे निकल गया। इन मार्केट में नगर निगम 50 लाख रुपये के काम करवाएगा। वहीं, 410 रहवासी संघों में से 38 का सिलेक्शन एक और दो नंबर के लिए किया गया। पांच हाकर्स कॉर्नर भी चुने गए। मुख्यमंत्री ने कुल 48 अवार्ड बांटे। इसमें 38 रेसिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (रहवासी संघ),पांच - पांच बाजार और हाकर्स कानर्स को अवॉर्ड दिए गए।

र्मा, पूर्व निगम अध्यक्ष सुरजीतसिंह चौहान मंच पर मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने मंच से इन लोगों से किया संवाद

मुख्यमंत्री ने शहर को स्वच्छ रखने वाले स्वच्छता मित्रों से मंच से ही संवाद किया। इनमें शौचालय केयर टेकर संजय शर्मा, स्वच्छता उद्यमी महेंद्र चौहान, कल्पना केकरे, दीपा मालवीय और सब्जी कारोबारी पार्वती बाई से

बातचीत की। इस दौरान उन्होंने उनके काम के बारे में और उसको करने के तरीके के बारे में जानकारी मांगी । साथ ही उनके काम की सरहाना की।

शहर के सबसे साफ बाजार

दस नंबर मार्केट स्वच्छता में सबसे आगे रहा। यहां पर सभी जगह कचरे के लिए डस्टबिन लगाए गए हैं। मार्केट पदाधिकारी निगम के स्वच्छ सर्वेक्षण में शामिल होते हैं। इस बाजार में 50 लाख रुपए के काम करवाए जाएंगे। मनीषा मार्केट, यहां 40 लाख रुपए के काम होंगे। जीरो वेस्ट भंडारा भी करते हैं। शक्तिनगर मार्केट, इस बाजार में 30 लाख के काम होंगे। बैरागढ़ मार्केट, यहां 20 लाख रुपए के काम करवाए जाएंगे। आंगनवाड़ी गोद लें अभियान में शामिल रहे। न्यू मार्केट, यहां 10 लाख रुपए लागत के काम होंगे।

सबसे साफ रेसिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन

जोन एक में ऋषिविलास कॉलोनी, होम कम्पोस्टिंग की शुरुआत की। कॉलोनी को संरक्षित किया। द विलेयर कॉलोनी, होम कम्पोस्टिंग, कचरा सहेजने में आगे। जाेन दो में लेक पर्ल गार्डन, एक्जेट विला, जोन तीन में सत कंवरराम कालोनी, ग्रीन पार्क कलोनी, जोन चार में सिंधी सहकारी गृह निर्माण समिति, राजदेव कालोनी, जोन पांच में अभि होमस, नादिर कालोनी, जोन छह में अन्नपूर्णा कालोनी, पलकपति रहवासी संघ, जोन सात में ग्रीन सिटी गुलमोहर, शाहपुरा कालोनी, जोन आठ में पत्रकार कालोनी, रुस्तम कालोनी, जोन नौ में महादेव कैंपस, नुपूर कुंज कालोनी, जाेन दस में सम्राट कालोनी, कौशल्या पिंक हेरिटेज, जोन 11 में बिजली कालोनी, शलिमार रेसीडेंसी, जोन 12 में पुराना अशोकागार्डन समिति, गोविंद गार्ड, ओल्ड सुभाष नगर, जोन 13 में सुरेंद्र गार्डन, डीके काटेज, जोन 14 में रिगल टावर, शिवलोक ग्रीन छह, जोन 15 में संपदा कालोनी, एसआरजी खजूरी कलां, भारत गृह निर्माण समिति, जोन 16 रीगल ट्रेजर, सागर सिल्वर स्पिंग, जोन 17 में प्रीमियम आर्चेड करोंद, कंफर्ट लाइफ ग्रीन जेल रोड, जोन 18 साेर्चेट कालोनी, सीआई हाइट्स, जोन 19 अटलानाटिस, फेथ कलां एम्पायर शामिल हैं

शहर के सबसे साफ हाकर्स कार्नर

शहर के सबसे साफ हाकर्स कार्नर में शाहपुरा शामिल है। यहां पर पांच लाख रुपये के काम करवाए जाएंगे। युवाओं की टीम सिंगल यूज प्लास्टिंग और पॉलिथिन को प्रतिबंधित किया है। छह नंबर हॉकर्स कॉर्नर, यहां पर चार लाख के काम होंगे। स्वच्छता की दिशा में बेहतर काम किया। इंद्रा मार्केट हॉकर्स कॉर्नर, यहां पर तीन लाख रुपए के काम होंगे। एम्स हॉकर्स कॉर्नर, दो लाख रुपए लागत के काम करवाए जाएंगे। करोंद हॉकर्स, एक लाख रुपए के काम मंजूर किए गए हैं।

यह पुरस्कार दिए गए

- प्रत्येक जोन में स्वच्छतम रहवासी संघ/कालोनी को पहले स्थान पर पांच लाख रुपए के काम, दूसरे स्थान पर तीन लाख रुपए के काम मंजूर किए गए। इस तरह 19 जोन में स्वच्छतम रहवासी संघ श्रेणी में कुल 38 पुरस्कार दिए गए।

- ऐसे ही स्वच्छतम बाजार श्रेणी में पहले स्थान पर 50 लाख रुपये, दूसरे स्थान पर 40 लाख, तीसरे स्थान के लिए 30 लाख, चौथे स्थान के लिए 20 लाख और पांचवें स्थान पर 10 लाख रुपये के काम स्वीकृत किए गए हैं। मतलब 19 जोन में स्वच्छतम बाजार श्रेणी में पांच पुरस्कार दिए गए है।

- स्वच्छतम हाकर्स कार्नर श्रेणी भी बनाई गई थी। इसमें पहले स्थान पर पांच लाख, दूसरे पर चार लाख, तीसरे पर तीन लाख, चौथे पर दो लाख और पांचवें स्थान पर एक लाख रुपये के काम मंजूर किए गए हैं। इस कैटेगरी में

19 जोन में स्वच्छतम हाकर्स कार्नर श्रेणी में कुल पांच पुरस्कार की घोषणा की गई।

कार्यक्रम के दौरान मुख्‍यमंत्री ने हम सभी तय कर लें तो स्वच्छता अभियान को सामाजिक आंदोलन बनाकर भोपाल शीर्ष स्थान प्राप्त कर सकता है। जो लोग, संस्थाएं स्वच्छता के लिए समर्पित होकर बेहतर कार्य कर रहे हैं, आज उन्हें सम्मानित किया जाएगा। आंगनबाड़ियों में मुझे कुपोषण दूर करना है। सरकार अपना काम करेगी प्रशासन लगेगा हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे, लेकिन अगर समाज भी निश्चय कर ले कि मेरे मोहल्ले के आंगनबाड़ी में कोई बच्चा कुपोषित नहीं रहेगा, तो क्या नहीं हो सकता है। कोई भी देश बिना समाज के आगे नहीं बढ़ सकता। एक आंदोलन बन जाए पर्यावरण, स्वच्छता, पेड़ लगाना, बच्चों के लिए काम करना..., फिर देखिए कि देश कैसे उठता है। News updating...

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.