बीएसएनएल ने प्रदेश में शुरू किया पीडीओ, 4जी एक साल बाद आएगा

Updated: | Mon, 29 Nov 2021 07:51 PM (IST)

भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)।भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) बिकने नहीं जा रहा है। देश भर में ऐसी भ्रांतियां फैलाई जा रही हैं कि भारत सरकार बीएसएनएल को बेच रही है। हम बीएसएनएल की ऐसी जमीन बेच रहे हैं, जिनका कोई उपयोग नहीं है। इससे आने वाले पैसों से बेहतर नेटवर्क देने पर काम कर रहे हैं। जमीन बेच कर छह हजार करोड़ रुपये की राशि एकत्रित करने का लक्ष्य है। हम बेहतर नेटवर्क देने पर काम कर रहे हैं। मप्र के ग्रामीण इलाकों के लिए पब्लिक काल आफिस(पीसीओ) की तरह पब्लिक डेटा आफिस(पब्लिक डेटा आफिस)खोल गए हैं, जहां हाई स्पीड डेटा की सेवाएं वाई-फाई हॉट स्पाट के जरिए दी जाएंगी। एक साल में बीएसएनल 4जी नेटवर्क देने की शुरुआत कर देगा। निजी कंपनियां 5जी नेटवर्क देने के लिए तैयारी कर रही हैं, लेकिन तीन से चार साल 5जी नेटवर्क देने में लग जाएंगे। यह बात सोमवार को अरेरा हिल्स िस्थत बीएसएनएल कार्यालय में मानव संसाधन निदेशक अरविंद वडनेरकर ने मीडिया से कही। उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया की नीतियों के तहत हाल ही प्रधानमंत्री वाई-फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस(पीएम वाणी)के तहत प्रदेश के सतना व जबलपुर जिले में हाई स्पीड डेटा देने की सुविधा शुरू की है। जल्द ही पूरे प्रदेश में हाई स्पीड सेवाएं मिलेंगी। बीएसएनल फ्रेंचाइजी के जरिए पीडीओ खोलने का कर रहा है। प्रधानमंत्री वाणी योजनाए के तहत चाय-किराने की दुकानें, नुक्कड़ व चौराहों पर लोगों को इंटरनेट चलाने के लिए हाई स्पीड मिलेगी। वहीं बीएसएनएल मप्र के मुख्य महाप्रबंधक सत्यानंद राजहंस ने बताया कि फाइवर और भारत एयर फाइबर की सेवाओं को मप्र की सभी जगहों पर पहुंचाने का प्रयास जारी हैं। प्रदेश में अब तक 1140 एफटीटीएच ओएलटी लगा दिए गए हैं। जिनके जरिए लगभग 56000 उपभोक्ता इस सेवा का लाभ ले सकेंगे। भारत एयर फाइबर के 140 बीटीएस भी कार्य कर रहे हैं। प्रदेश के सभी 250 एसडीसीसी में यह सुविधा देने का लक्ष्य रखा गया है। बीएसएनएल के किसी भी लैंडलाइन कनेक्शन को भारत फाइबर में परिवर्तित कराने पर छह महीने तक 100 फीसद प्रतिमाह की छूट के साथ ही आकर्षक छूट भी दी जा रही है।

Posted By: Lalit Katariya