भोपाल के मैनिट में स्‍थापित हुआ केबल प्रौद्योगिकी उत्कृष्टता केंद्र, विद्यार्थियों को मिलेगा लाभ

Updated: | Fri, 03 Dec 2021 08:43 AM (IST)

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी में स्‍थित मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी (मैनिट) के ऊर्जा केंद्र में केबल प्रौद्योगिकी में उत्कृष्टता केंद्र का उद्घाटन किया गया। उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि वरिष्ठ आइएएस जान किंग्सली, विशिष्ट अतिथि एलएपीपी इंडिया प्रालि के प्रबंध निदेशक गैरी बेटमैन थे। उद्घाटन समारोह में मैनिट के निदेशक प्रो. एनएस. रघुवंशी, डीन अकादमिक प्रो अरविंद मित्तल सहित विभिन्न विभागों के एचओडी भी उपस्थित थे। मैनिट के डीन अकादमिक प्रो अरविंद मित्तल ने बताया कि मैनिट भोपाल में केबल प्रौद्योगिकी में उत्कृष्टता केंद्र एलएपीपी इंडिया प्राइवेट द्वारा प्रस्तावित किया गया था। केबल इन्सुलेशन में उपयोग किए जाने वाले उपन्यास बहुलक शीथ के अनुसंधान और विकास के लिए, उद्योग अकादमिक साझेदारी को बढ़ाने के लिए और केबल्स के विभिन्न मानकों के परीक्षण के लिए उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किया गया है। मैनिट भोपाल के संकाय सक्रिय रूप से कंपनी को परामर्श प्रदान करेंगे और केबल प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उद्योग के व्यक्तियों और शिक्षाविदों के लिए कार्यशालाओं और अल्पकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे।

कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि के तौर पर पधारे जान किंग्सली ने अपने उद्वोधन में अकादमिक संस्थानों में युवा प्रतिभाओं के पूल की उपलब्धता पर जोर दिया, जो उद्योगों के लिए आवश्यक नवीन समाधान प्रदान करने में सहायक हो सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि निर्यात गुणवत्ता वाले उत्पादों के आंतरिक विकास के लिए उद्योग और शिक्षाविदों के बीच ऐसे सहयोग के विकास को प्रोत्साहित किया जाना चाहिए, जो अंतरराष्ट्रीय मानकों को पूरा कर सके। प्रो. एनएस रघुवंशी ने मैनिट भोपाल में उत्कृष्टता के विभिन्न अन्य केंद्रों की हाल की स्थापनाओं का सारांश दिया और संस्थान और देश के समग्र विकास के लिए उद्योग अकादमिक साझेदारी को प्रोत्साहित किया।

इस अवसर पर शिव वेंकटरमनी ने कहा कि एलएपीपी इंडिया प्रा. लिमिटेड विभिन्न तकनीकी मुद्दों को हल करने के लिए केंद्र के माध्यम से मैनिट भोपाल के साथ अनुसंधान सहयोग के लिए तत्पर है, जिसका सामना कंपनी केबलों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए कर सकते हैं, चूंकि कंपनी का ध्यान उत्पादन पर है, इसलिए मैनिट भोपाल जैसे शैक्षणिक संस्थानों को अनुसंधान भाग के लिए निर्भर किया जाएगा। रमेश मेनन ने कहा कि गुणवत्ता केबल्स के उत्पादन के लिए 'मेक इन इंडिया' अवधारणा को बढ़ावा देने में केंद्र एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, जो भविष्य के विद्युत वाहनों के लिए चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस समारोह का समापन डीन इंस्टीट्यूशनल डेवलपमेंट डा मनीषा दुबे के धन्यवाद ज्ञापन और गणमान्य व्यक्तियों और उपस्थित लोगों द्वारा नए स्थापित केंद्र के दौरे के साथ हुआ।

Posted By: Ravindra Soni