वीडियो कांफ्रेंस में बोले सीएम शिवराज : विदेशी धन लेकर मतांतरण कराने वाले एनजीओ की जुटाएं जानकारी

Updated: | Mon, 29 Nov 2021 06:36 PM (IST)

भोपाल। (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में ऐसे सभी गैर सरकारी संगठनों (एनजीओ) को चिन्हित किया जाएगा, जिन्हें विदेश से अनुदान मिलता है। वे इसका क्या उपयोग कर रहे हैं, इसकी जानकारी भी जुटाई जाएगी। मतांतरण कराने वाले एनजीओ के लिए मध्य प्रदेश में कोई जगह नहीं हैं। समाज को तोड़ने वाले संगठन और उनसे जुड़े व्यक्तियों की जानकारी भी एकत्र की जाएगी। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को मंत्रालय में कलेक्टर-कमिश्नर, आइजी-पुलिस पुलिस अधीक्षकों की वीडियो कांफ्रेंस में अधिकारियों को निर्देश दिए।

कांफ्रेंस की शुरुआत कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा के साथ की गई। दो साल में सात हार्डकोर माओवादी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए हैं और तीन को गिरफ्तार किया है। बीस स्थानों का पता करके विस्फोटक जब्त किया है। इन्हें हथियार की आपूर्ति करने वाले 18 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है।

स्मैक बेचने वालों को तबाह कर दो

छह घंटे तक चली बैठक में मुख्यमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्मैक बेचने का कारोबार करने वालों को बर्बाद और तबाह कर दो। पुलिस या कोई अन्य अधिकारी, जो भी नशा का कारोबार करने वालों के साथ मिलीभगत कर रहा है, उसे नौकरी से बर्खास्त करें। नशा मुक्ति अभियान समाज के साथ मिलकर संचालित करें।

भूमाफिया की साढ़े तीन हजार एकड़ भूमि पर बनेंगे आवास

भू-माफिया से मुक्त कराई भूमि पर गरीबों के आवास बनाए जाएंगे। मैं स्वयं मुक्त कराई गई भूमि पर गरीबों के आवास का भूमिपूजन करने के लिए आऊंगा। हमारा लक्ष्य वे माफिया और दबंग हैं जिन्होंने भूमि दबा रखी है। इनसे इन्हें मुक्त कराना है। अब तक 3559 एकड़ भूमि माफिया से मुक्त कराई जा चुकी है। उज्जैन, भोपाल, इंदौर और सागर जिला प्रशासन की माफिया से भूमि मुक्त कराने में अच्छा काम करने को लेकर प्रशंसा की।

विदिशा, धार और मुरैना के प्रदर्शन पर खफा सीएम

अपराध रोकने में सामान्य प्रदर्शन वाले विदिशा, धार और मुरैना जिले के पुलिस अधीक्षकों से मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई। उन्होंने पूछा कि जब बाकी जिले बेहतर काम कर रहे हैं, तो आपको क्या समस्या आ रही है। उज्जैन और जबलपुर जिले ने अपराध रोकने में सबसे अच्छा काम किया। वहीं, सागर, भोपाल, इंदौर, ग्वालियर जिले का काम संतोषप्रद पाया गया। चिन्हित अपराध के मामले में मंडला, रायसेन, नरसिंहपुर, दतिया, रेल इंदौर, भिंड, शहडोल, उमरिया, छतरपुर और बड़वानी जिले ने अच्छा प्रदर्शन किया।

कम टीकाकरण पर बड़वानी कलेक्टर को फटकार

कोरोना की समीक्षा में नए वेरिएंट को लेकर सतर्क रहने के निर्देश दिए। इंदौर और भोपाल में अलग-अलग जगह से मामले आ रहे हैं। मास्क लगाने के लिए रोका-टोकी शुरू करें। टीकाकरण को प्राथमिकता दें। बड़वानी में कम टीकाकरण को लेकर कलेक्टर के प्रति नाराजगी जताते हुए उन्होंने कहा कि हमारे प्रयास में कमी है। प्रदेश में 201 में से 178 आक्सीजन प्लांट लग चुके हैं। इन्हें चालू करके देख लें। वेंटिलेटर, दवाई आदि की पूरी व्यवस्था रखें। तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए व्यवस्था चाकचौबंद रखें। एक दिसंबर को जिला आपदा प्रबंधन समितियों के साथ बैठक करूंगा, जिसमें तैयारियों की समीक्षा की जाएगी।

बिना लिए-दिए मिले हितग्राही को लाभ

उन्होंने कहा कि 15 नवंबर से 15 जनवरी तक प्रदेशवासियों को हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान कोई भी पात्र व्यक्ति वंचित न रहे। हितग्राही को योजना की स्वीकृति बिना लिए-दिए हो और लाभ भी बिना लिए-दिए मिले। जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में प्रमाण पत्र बांटे जाएं। प्रक्रिया पारदर्शी हो। इसके लिए तकनीकी का ज्यादा से ज्यादा उपयोग किया जाए। अभियान में आपदा प्रबंधन समूह के सदस्यों का सहयोग लें।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay