मध्य प्रदेश में अब सरकारी राशन दुकानें भी चलाएंगी स्व-सहायता समूह की महिलाएं

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 10:32 PM (IST)

भोपाल(राज्य ब्यूरो)। स्व-सहायता समूहों की महिलाएं अब प्रदेश की 25 हजार 400 उचित मूल्य की राशन दुकानों का संचालन भी करेंगी। इन महिलाओं को इस साल 2550 करोड़ रुपये का कर्ज बैंक से दिलाया जाएगा और उन्हें सिर्फ चार फीसद ब्याज देना होगा। यह घोषणाएं गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कीं। चौहान मुख्यमंत्री आवास में महिला स्व-सहायता समूहों की राज्य स्तरीय पंचायत को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बैंक से कर्ज दिलाने के अलावा आजीविका पोर्टल, मार्केटिंग सहित अन्य कार्यों के लिए सरकार 1050 करोड़ रुपये देकर समूहों की सहायता करेगी।

कार्यक्रम में समूह की महिलाओं ने आपबीती सुनाई और आजीविका मिशन के माध्यम से मिले सहयोग के लिए धन्यवाद भी दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि समूह से जुड़ी प्रत्येक महिला की आय प्रति माह 10 हजार रुपये बढ़े। उन्होंने श्रेष्ठ काम करने वाले समूहों के कलस्टर को एक करोड़ रुपये का नगद पुरस्कार देने और भोपाल हाट बाजार में आजीविका मार्ट खोलने की भी घोषणा की। समूहों का व्यापार बढ़ाने के लिए ई-कामर्स पोर्टल से करार करेंगे। समूह सिंघाड़ा एवं मछली का व्यापार करें, इसके लिए विशेष परियोजना बनाएंगे। वहीं महिलाओं से अभियान चलाकर आयुष्मान कार्ड बनवाने को कहा है। मुख्यमंत्री ने यहां आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश के निर्माण में समूहों की भूमिका पर केंद्रित प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

सशक्तीकरण के चार मंत्र दिए

मुख्यमंत्री ने महिला सशक्तीकरण के चार मंत्र दिए। उन्होंने कहा कि महिलाओं को सामाजिक, शैक्षणिक, आर्थिक और राजनैतिक रूप से सशक्त करना जरूरी है। इसी उद्देश्य से नगरीय निकायों और पंचायतों चुनावों में 50 फीसद आरक्षण दिया है। उन्होंने कहा कि महिलाएं अपने पैरों पर खड़ी हो जाएं, तो समय बदलेगा।

मुख्यमंत्री ने की उत्पादों की ब्रांडिंग

मुख्यमंत्री ने समूहों द्वारा तैयार मल्टीग्रेन आटा, बेसन, सरसों-मूंगफली का तेल, अदरक-लहसुन की चटनी, दलिया आदि की ब्रांडिंग करते हुए जनता से समूहों के उत्पाद खरीदने की अपील की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि इन उत्पादों की सौ फीसद शुद्धता के आधार पर ब्रांडिंग की जाए। मुख्यमंत्री ने ये उत्पाद आजीविका मार्ट पोर्टल पर भी अपलोड कराए। मुख्यमंत्री ने समूह की महिलाओं को बिचौलियों से सावधान रहने और लालच में नहीं आने की सलाह भी दी।

साथी बाजार से पूरे विश्व में होगी मार्केटिंग

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने कहा कि प्रदेश में साथी बाजार की अवधारणा पर काम कर रहे हैं। इसके तहत समूहों के उत्पादों की रिटेल मार्केटिंग के लिए बड़ी कंपनियों से बातचीत चल रही है। साथी बाजार के माध्यम से समूह के उत्पादों की मार्केटिंग पूरे विश्व में होगी। यहां विभाग के राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल भी उपस्थित थे।

Posted By: Prashant Pandey