HamburgerMenuButton

Corona news: कोरोना संक्रमण रोकने पूरी क्षमता और निष्ठा से करें काम: संभागायुक्त

Updated: | Sun, 16 May 2021 05:19 PM (IST)

Corona news: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। संभागायुक्त कवींद्र कियावत ने रविवार को रायसेन जिले में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों, कोरोना कर्फ्यू, संक्रमित मरीजों के उपचार एवं किल किरोना अभियान की समीक्षा की।बैठक में सभी ब्लाक और तहसील स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। संभागायुक्त कियावत ने अधिकारियों को कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने हेतु अपने दायित्वों का निर्वहन पूरी क्षमता और गंभीरता से करने के निर्देश देते हुए कहा कि यह समय चुनौतीपूर्ण है और कोरोना के विरूद्ध यह लड़ाई तब तक जारी रहेगी जब तक कि अंतिम संक्रमित व्यक्ति को ठीक ना कर दें। बैठक में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव तथा पुलिस अधीक्षक श्रीमती मोनिका शुक्ला द्वारा जिले में कोरोना संक्रमण रोकने किए जा रहे कार्यो से अवगत कराया गया। संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि एक भी संक्रमित व्यक्ति हमारे सभी प्रयासों को निष्फल कर सकता है। गॉव या वार्ड में एक संक्रमित या संदिग्ध व्यक्ति होने पर भी पूरी गंभीरता, सजगता से काम करना है। कोरोना संक्रमण को कोरोना कर्फ्यू अवधि में नियंत्रित करना बेहद आवश्यक है। उन्होंने कहा कि किल कोरोना अभियान के तहत गॉवों और नगरों में घर-घर जाकर स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। इसके प्रभावी क्रियान्वयन के लिए त्रि-स्तरीय व्यवस्था की गई है सर्वे दल, सुपरवाईजर और नोडल अधिकारी। तीनों ही स्तर पर पूरी गंभीरता और लगन से काम करने की जरूरत है।

कोरोना संक्रमण रोकने हर दिन हर घर सर्वे जरूरी

संभागायुक्त कियावत ने कहा कि प्रत्येक दल द्वारा हर दिन हर घर का सर्वे किया जाना जरूरी है, जो आज बीमार या संक्रमित नहीं है वह कल हो सकते हैं। इसलिए यह सुनिश्चित करें कि सर्वे दल द्वारा हर दिन हर घर का सर्वे किया जा रहा है। कोरोना संदिग्ध या संक्रमित व्यक्ति की शीघ्र पहचान कर उपचार प्रारंभ करने से कोरोना संक्रमण को प्रारंभिक अवस्था में खत्म किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जितना त्वरित उपचार प्रारंभ होगा, उतना ही जल्द मरीज स्वस्थ्य होगा और सुरक्षित रहेगा। सर्वे दलों द्वारा सिर्फ सर्दी, खॉसी या बुखार के लक्षणों की जानकारी ना ली जाए, बल्कि सिरदर्द, बदन दर्ज, एठन सहित अन्य लक्षणों के बारे में भी लोगों से जानकारी ली जाए। सर्वे दल द्वारा संदिग्ध व्यक्ति को तुरंत चिन्हित करते हुए घर में ही आइसोलेट होने और परिवार के अन्य सदस्यों से दूरी बनाने के लिए कहें। साथ ही मेडीकल किट देते हुए परामर्श अनुसार नियमित मेडीसिन लेने और सावधानी बरतने की समझाईश दी जाए। संभागायुक्त ने कहा कि संदिग्ध व्यक्ति के साथ-साथ परिजनों को भी सावधानी बरतने की समझाईश दी जाए। संभागायुक्त ने कहा कि सर्वे दल द्वारा चिन्हांकित व्यक्ति का नाम, पता और मोबाइल नम्बर अपने सुपरवाइजर तथा ब्लॉक कंट्रोल रूम को अवगत कराया जाए।

सर्वे दल लोगों को योग और हॉट वाटर थैरेपी की भी दें जानकारी

संभागायुक्त श्री कियावत ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सर्वे दल द्वारा लोगों को योग, प्राणायाम, कपालभाति, सहित अन्य योगासनों के बारे में भी जानकारी दी जाए। श्वसन तंत्र की मजबूती के लिए यह जरूरी है। इसके साथ ही लोगों को हॉट वाटर थैरिपी की भी जानकारी दी जाए। जिसमें गरम पानी तथा गरम पेय पदार्थ पीना, भाप लेना और गरारे करना शामिल है। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सर्वे दल अपना काम इमानदारी से करें यह सुनिश्चित किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

माइक्रो कंटेनमेंट जोन में रखें विशेष निगरानी

संभागायुक्त ने कहा कि ब्लॉक स्तर पर गठित कंट्रोल रूम द्वारा प्रतिदिन चिन्हांकित संदिग्ध लोगों को फोन कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त करें। उन्हें मेडीकल किट मिली या नहीं, योग कर रहे हैं या नहीं और हॉट वाटर थैरेपी कर रहे या नहीं। संभागायुक्त ने कहा कि तीन से चार दिन में भी लक्षण खत्म नहीं होने पर तुरंत टेस्ट कराने के लिए कहें। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संदिग्ध और होम आइसोलेट संक्रमित व्यक्ति घर से बाहर ना निकलें यह भी सुनिश्चित करें। माइक्रो कंटेनमेंट जोन में विशेष निगरानी रखें जिससे कि कोई बाहर नहीं निकल पाए और संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.