HamburgerMenuButton

Coronavirus Free Madhya Pradesh: बुरहानपुर-भिंड कोरोना मुक्त, 22 जिलों में एक भी नया मरीज नहीं

Updated: | Fri, 18 Jun 2021 12:19 PM (IST)

Coronavirus Free Madhya Pradesh: भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है। बुरहानपुर और भिंड जिले कोरोना से पूरी तरह मुक्त हो चुके हैं। वहीं 22 जिलों में बुधवार को एक भी नया मामला नहीं आया। पाजिटिविटी रेट घटकर 0.2 फीसद रह गया है, तो रिकवरी रेट बढ़कर 98.5 फीसद हो गया है। संक्रमण के मामले में देश में प्रदेश 28वें स्थान पर आ गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता को सचेत किया है हर व्यक्ति अनिवार्य रूप से कोरोना गाइडलाइन का पालन करे। अब थोड़ी भी असावधानी भारी पड़ सकती है।

मंत्रालय में कोरोना की समीक्षा करते हुए गुरुवार को मुख्यमंत्री ने कहा, प्रदेश अनलाक हो रहा है। आर्थिक गतिविधियां भी फिर शुरू हो रही हैं। ऐसे में सावधान रहें और कोरोना से बचाव के लिए टीका अवश्य लगवाएं। जनता मास्क लगाए, परस्पर दूरी रखे और भीड़ न लगाए। गुरुवार को हुई समीक्षा बैठक में बताया गया बुधवार को प्रदेश में 145 नए मामले आए हैं। प्रदेश के छह जिलों में पांच या अधिक नए मामले हैं। इनमें से भोपाल में 42, इंदौर में 34, जबलपुर में नौ, विदिशा में छह और राजगढ़ एवं उज्जैन में पांच-पांच नए मामले आए हैं। भिंड और बुरहानपुर जिलों में कोरोना का न कोई नया मामला आया, न ही कोई एक्टिव मामला बचा है।

इन जिलों में कोई नया मामला नहीं

प्रदेश के 22 जिलों (आगर-मालवा, आलीराजपुर, अनूपपुर, भिंड, बुरहानपुर, छतरपुर, देवास, डिंडौरी, गुना, होशंगाबाद, खंडवा, मंडला, नरसिंहपुर, पन्ना, सागर, सतना, शाजापुर, श्योपुर, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़ एवं उमरिया) में कोरोना का कोई भी नया मामला नहीं आया है।

2,984 एक्टिव मामले

प्रदेश में बुधवार को कोरोना के 2,984 एक्टिव मरीज थे। उसी दिन 24 घंटों में 404 मरीज स्वस्थ हुए और साप्ताहिक पाजिटिविटी रेट 0.3 रह गया। 51 जिलों में साप्ताहिक पाजिटिविटी रेट एक फीसद से कम रहा। सिर्फ भोपाल जिले में साप्ताहिक पाजिटिविटी रेट 1.1 फीसद रहा।

1,412 मरीज अस्पतालों में उपचाररत

प्रदेश के विभिन्न् अस्पतालों में एक हजार 412 (47 फीसद) मरीज उपचाररत हैं। इनमें से 660 आइसीयू, 560 आक्सीजन बिस्तर और 192 सामान्य बिस्तर पर हैं। होम आइसोलेशन में 1,572 (53 फीसद) मरीज हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.