भोपाल शहर के अयप्पा मंदिरों में सजाई जा रही दीपमालाएं, गिरजाघरों में आज मन रहा धन्यवादी रविवार

Updated: | Sun, 28 Nov 2021 09:28 AM (IST)

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। मलयाली समाज के अयप्पा मंदिरों में डेढ़ माह तक चलने वाले मकरविलाक्कु उत्‍सव रहा है। इस पावन मौके पर सुबह और शाम दोनों पहर में भगवान अयप्पा की भक्ति-अराधना की जा रही है। भगवान अयप्पा मंदिर में परंपरानुसार पूजा-अर्चना की जा रही हैं। दीप महलाएं सजाई जा रही हैं। श्रद्धालुओं ने प्रभु से प्रार्थना कर परिवार, प्रदेश व देश की खुशहाली की कामना कर रहे हैं। आकर्षक विद्युत साज-सज्जा व रंगोली सजाई गई।

अय्यप्पा मंदिर बरखेड़ा के सचिव एम विनोद कुमार ने बताया कि शनिवार को मंडला मकरविलाक्‍कु के 12वें दिन विशेष पूजा-अर्चना भेल स्‍थित अयप्पा मंदिर में की गई। इस दौरान शाम को सहस्र दीपों को प्रज्‍ज्‍वलित किए गए। जिसमें तिल एवं घी युक्त बाती का उपयोग किया जाता है। प्रात: महागणपति होम, अष्टद्रव्य अभिषेक, एवम अन्नदान आयोजित किया गया। शाम को महा आरती, करपुर ज्योति, पुष्पाभिषेक, भजन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मंदिर को फूल एवम रंगोली से सजाया गया तथा दीप स्तंभ प्रज्‍ज्‍वलित किया गया। मंदिर में नियमित 14 जनवरी 2022 तक रोज भजन आयोजित किए जाएंगे।

इधर शहर में 25 दिसंबर को मनाए जाने वाली यीशु मसीह के जन्मोत्सव क्रिसमस की तैयारियां ईसाई समाज के गिरजाघरों में जोरों-शोरों के साथ शुरू हो गई हैं। आज यीशु मसीह के जन्मोत्सव के प्रथम आगमन के रूप में गिरजाघरों में धन्यवादी रविवार मनाया जा रहा है। गोविंदपुरा स्थित सेंट जोंस चर्च के रेव्ह डा अनिल मार्टिन ने बताया कि इस साल ईसाई समाज प्रभु यीशु के जन्म में खासतौर पर यह प्रार्थना कर रहा है कि संपूर्ण विश्व में कोरोना महामारी समाप्‍त हो जाए, जिससे जनजीवन सामान्‍य हो, आर्थिक तंगी दूर हो सके एवं बेरोजगार लोगों को रोजगार मिल सके।

Posted By: Ravindra Soni