HamburgerMenuButton

Bhopal Crime News: रकम दोगुनी करने का झांसा देते हुए सौ लोगों से लाखों रुपये की ठगी

Updated: | Wed, 20 Jan 2021 09:27 AM (IST)

भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। टीटीनगर इलाके में एक चिटफंड कंपनी के संचालक बाप- बेटे ने मिलकर करीब सौ लोगों से एक करोड़ रुपए ठग लिए। आरोपितों ने लोगों को रकम को दोगुना करने का लालच देकर अपने जाल में फंसाया और अचानक कंपनी बंद कर फरार हो गए। जब पीड़ितों ने एजेंट को फोन लगाकर बात करने की कोशिश की तब इस पूरी धोखाधड़ी का खुलासा हुआ। पुलिस ने बाप-बेटे समेत तीन आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है। जांच में सामने आया है कि यह चिटफंड कंपनी पहले भी ऐसी घटना कर चुकी है।

टीटीनगर थाने के एसआइ बहादुर सिंह पटेल के अनुसार साकेत नगर में रहने वाले 66 वर्षीय जयप्रकाश गौड भेल से सेवानिवृत्‍त हैं। उन्होंने साईं प्रसाद चिटफंड कंपनी में रकम को अक्टूबर 2012 में निवेश किया था। उनके साथ करीब सौ लोग ऐसे सामने आए हैं, जिनके द्वारा इस चिटफंड कंपनी में काफी पैसा निवेश किया था। कंपनी ने शुरुआत में रकम को दोगुना करने का समय चार से साढ़े चार साल रखा था। उस समय कई लोगों को तय मियाद के बाद दोगुनी रकम वापस भी दी गई। बाद में कंपनी द्वारा रकम को दोगुना करने का समय छह से साढ़े साल कर दिया था। इसमें लोगों ने 25 हजार रुपए एक लाख तक की रकम को निवेश किया था। 2015 तक कंपनी इसी तरह काम कर रही थी। उसके बाद से अचानक से कंपनी संचालक अचानक ऑफिस बंद कर गायब हो गए। उस वक्‍त भी पीड़ितों ने काफी हंगामा मचाया था। इसकी शिकायत भी की थी। जिसकी जांच सालों से चल रही थी। अब जांच के बाद पुलिस ने तीन आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

बाप-बेटे को बनाया आरोपित

जांच अधिकारी एसआइ बहादुर सिंह पटेल ने बताया कि सांई प्रसाद चिटफंड कंपनी के प्रबंधक बाला साहब भापकर, उसके पुत्र शशांक भापकर औरा एक अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। आरोपितों की तलाश की जा रही है। उनके द्वारा पहले भी इस प्रकार की धोखाधड़ी करने की घटना की जानकारी जुटाई जा रही है।

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.