HamburgerMenuButton

Bhopal News: महामारी के दौर में हरेक व्‍यक्‍ति को समझनी होगी योग की महत्‍ता

Updated: | Tue, 22 Jun 2021 10:17 AM (IST)

Bhopal News: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी भोपाल के उपनगर बैरागढ स्थित आरोग्य केन्द्र में सातवें अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर नागरिकों को योग के महत्व से अवगत कराया गया। केन्द्र के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. गुलाब राय टेवानी ने योग के महत्व को समझाते हुए कहा कि योग हमारे शरीर, मन और आत्मा को एक सूत्र में जोड़कर आत्मिक शांति प्रदान करने का साधन है। इससे शरीर निरोग रहता है, मन प्रसन्न रहता है, बुद्धि स्वस्थ रहती है। मानसिक बीमारियों को भी योग द्वारा ठीक किया जा सकता है। हम योग को नियमित रूप से अपनाकर बीमारियों से स्थायी रूप से दूर रह सकते है।

टेवानी ने कहा कि योग का अर्थ ‘एकता’ या ‘बांधना’ है। व्यावहारिक स्तर पर योग शरीर, मन और भावनाओं को संतुलित करने और तालमेल बनाने का एक साधन है। यह योग या एकता आसन, प्राणायाम, मुद्रा, और ध्यान के अभ्यास के माध्यम से प्राप्त होती है। तो योग जीने का एक तरीका भी है और अपने आप में परम उद्देश्य भी। योग के माध्यम से मनुष्य प्रकृति से जुड़ता है। योग से मनुष्य की शारीरिक बीमारियां कम हो जाती है। यह दुनिया में विकास और शांति को बढ़ाता है।

शरीर को मजबूत बनाता है नियमित योग

योग मन, शरीर और आत्मा की एकता को सक्षम बनाता है। योग के विभिन्न रूपों से हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को अलग-अलग तरीकों से लाभ मिलता है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को इस अनूठी कला का आनंद लेने के लिए मनाया जाता है। योग भारत की प्राचीन परंपरा का एक अमूल्य उपहार है। इसकी मदद से न सिर्फ स्वास्थ्य तन, बल्कि शांत मन को भी पाया जा सकता है। योग की मदद से पूरी दुनिया में शांति और व्यवस्था स्थापित की जा सकती है। योग के असंख्य लाभ इसे दुनिया भर के लोगों के लिए एक लोकप्रिय अभ्यास बनाते हैं। विशेष रूप से एक महामारी के समय में जब मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य तनाव में होता है। टेवानी ने कहा कि योग एक ऐसी कला है, जिससे न केवल दिल और दिमाग को अपने वष में किया जा सकता है, बल्कि कई जटिल बीमारियों को दूर भगाने में भी योग कारगर साबित हुआ है। नियमित रूप से योग करने से हम आजीवन स्वस्थ रह सकते हैं। बदलती जीवन शैली में हर व्यक्ति तनाव में रहने लगा है, इससे बीपी, शुगर, माइग्रेन, दिल के रोग सहित तमाम तरह की बीमारियों को पनपने का भय पैदा हो गया है। लेकिन योग में वह ताकत है, जिससे किसी भी बीमारी को आने से रोका जा सकता है।

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.