HamburgerMenuButton

Love Jihad in Madhya Pradesh: कांग्रेस बताए लव जिहाद कानून का समर्थन करेगी या विरोध-गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा

Updated: | Fri, 27 Nov 2020 09:32 PM (IST)

Love Jihad in Madhya Pradesh:भोपाल। नवदुनिया स्टेट ब्यूरो। कांग्रेस और उसके नेता भ्रम में जी रही हैं। उसकी नीति ही स्पष्ट नहीं है। लव जिहाद को लेकर उसे साफ करना चाहिए कि वह विधानसभा में धर्म स्वातंत्र्य विधेयक का समर्थन करेगा या विरोध। इस पर पार्टी के नेता क्यों नहीं बोल रहे हैं। यह बात गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस द्वारा लव जिहाद की परिभाषा पूछने पर पलटवार करते हुए कही।

गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस दोमुही बात करती है। ऐसा किसी और पार्टी में नहीं मिलेगा। जो लोग तिरंगे का विरोध करते हैं, कांग्रेस उनके साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है और उसके नेता कहते हैं कि हम उनके साथ नहीं हैं। पार्टी अपनी नीति तो स्पष्ट करें। देश के अंदर भ्रम में यदि कोई जी रहा है तो वह कांग्रेस और उसके नेता हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वन नेशन, वन इलेक्शन की सोच पर उन्होंने कहा कि वन नेशन, वन राशन कार्ड, वन नेशन वन टैक्स की तरह ही वन नेशन, वन इलेक्शन भी है। पार्षद से लेकर सांसद तक एक ही मतदाता सूची से चुना जाए।

पंचायत से संसद तक के चुनाव एक मतदाता सूची से हों। यह उचित भी है क्योंकि पांच साल चुनाव ही चलते रहते हैं। विधानसभा के चुनाव हुए तो लोकसभा चुनाव आए गए। नगरीय निकाय हुए तो पंचायत चुनाव आ गए। मंडी चुनाव के बाद सहकारी संस्था और फिर जल उपभोक्ता समिति के चुनाव होने लगे। एक के बाद चुनाव होते रहते हैं। आचार संहिता के चलते विकास प्रभावित होता है। मध्यप्रदेश में इसको लेकर समिति बनाई थी, जिसका मैं अध्यक्ष था। हमने एक साथ चुनाव कराने का खाका खींचा हुआ है।

कांग्रेस प्रायोजित है किसान आंदोलन

डॉ. मिश्रा ने कहा कि यह किसान आंदोलन नहीं बल्कि कांग्रेस का आंदोलन है। इसे कांग्रेस ही प्रायोजित है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि पंजाब में यह आंदोलन शांतिपूर्ण होता और हरियाणा में उग्र क्यों हो जाता है। क्या देश में अकेले पंजाब में किसान रहते हैं।वहां उनकी (कांग्रेस) सरकार है जो पीछे से किसानों को उकसा रही है। कांग्रेस को यह बताना चाहिए कि आजादी के बाद अधिकांश समय वह शासन में रही पर किसान कर्ज में पैदा होता था, जीता था और मर जाता था। उन्होंने किसानों की आर्थिक उन्न्ति के लिए क्या किया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.