मध्य देश के इंजीनियरिंग कालेजों में दो राउंड की काउंसिलिंग के बाद भी 50 फीसद सीटें खाली

Updated: | Sat, 23 Oct 2021 08:29 PM (IST)

Madhya Pradesh News : भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश के 150 निजी और सरकारी इंजीनियरिंग कालेजों में 55 हजार सीटों के लिए प्रवेश के लिए काउंसिलिंग प्रक्रिया चल रही है। पहले राउंड में करीब 13 हजार विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है। वहीं दूसरे राउंड की काउंसिलिंग को मिलाकर अब तक करीब 18 हजार प्रवेश हुए है। दूसरे राउंड में विभाग ने 20 हजार 600 सीटें आवंटित की थी। दूसरे राउंड की काउंसिलिंग शनिवार को समाप्त होने के बाद कालेज लेवल की काउंसिलिंग (सीएलसी) 24 व 25 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी। प्रथम व द्वितीय चरण की काउंसिलिंग को मिलाकर अब तक करीब 50 फीसद सीटों पर प्रवेश हो चुके हैं। अब शेष 50 फीसद सीटों पर प्रवेश कराने के लिए अब कालेज संचालक सीएलसी राउंड का इंतजार कर रहे हैं। कालेजों को सिर्फ दो दिन रविवार व सोमवार को समय मिलेगा, जिसमें उन्हें पूरी सीटें भरनी होगी। तकनीकी शिक्षा विभाग (डीटीई) ने 150 निजी व सरकारी इंजीनियरिंग कालेजों के दूसरे चरण की काउंसिलिंग के लिए 20 हजार 600 सीटें आवंटित की थी। इसमें से 18 हजार विद्यार्थियों ने फीस जमा कर प्रवेश ले लिया है। आवंटित सीटों में से शेष ढाई हजार विद्यार्थियों को उनकी पसंद के मुताबिक आवंटन नहीं होने के कारण उन्होंने प्रवेश छोड़ दिए हैं। अब ये विद्यार्थी रविवार अौर सोमवार को होने वाली सीएलसी राउंड में शामिल होंगे। वहीं प्रथम व द्वितीय चरण की काउंसिलिंग मिलाकर करीब 28 हजार सीटों पर प्रवेश हुए हैं। अभी भी करीब 27 हजार सीटें बची हैं।

सीएलसी के लिए करीब छह हजार हुए पंजीयन

सीएलसी राउंड के लिए अब तक करीब छह हजार विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है। विभाग ने अपने सभी टेक्निकल, फार्मेसी, पालीटेक्निक और मैनेजमेंट कोर्स की सीटों पर प्रवेश कराने के लिए सिर्फ दो दिन का समय दिया है। इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश के लिए 25 अक्टूबर तक का अंतिम समय है। वहीं दूसरे राउंड में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को कालेज की सीट पसंद नहीं आपे पर ब्रांच बदलने के लिए शनिवार तक का अंतिम दिन था। इसके बाद विभाग ब्रांचों की रिक्त सीटों को जारी कर रविवार से सीएलसी राउंड शुरू करेगा।

Posted By: Lalit Katariya