Madhya Pradesh Politics: सिंधिया के दौरे के जरिए कमल नाथ को उनके घर में घेरेगी भाजपा, नकुल नाथ की भी बढ़ेगी मुश्किल

Updated: | Tue, 27 Jul 2021 10:01 PM (IST)

Madhya Pradesh Politics: भोपाल (नईदुनिया स्टेट ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में भाजपा ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ की राजनीतिक घेराबंदी शुरू कर दी है। यह खासतौर पर उनके गृह क्षेत्र यानी छिंदवाड़ा में होगी। यह काम नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के माध्यम से किया जाएगा। अगस्त के दूसरे पखवाड़े में सिंधिया का छिंदवाड़ा में दौरा प्रस्तावित है। छिंदवाड़ा में भाजपा की ओर से घेराबंदी से कमल नाथ के पुत्र और सांसद नकुल नाथ की मुश्किल भी बढ़ेगी। इस रणनीति के पीछे 2023 के विधानसभा और 2024 के लोकसभा चुनाव की भाजपा की तैयारी को मजबूत स्वरूप देना है।

मध्य प्रदेश में अभी कांग्रेस के एकमात्र सांसद नकुल नाथ हैं। छिंदवाड़ा में कांग्रेस को होने वाले नुकसान को राजनीतिक गलियारों में कमल नाथ की व्यक्तिगत क्षति के तौर पर दर्ज किया जाएगा। सिंधिया के छिंदवाड़ा दौरे के समय कुछ बड़े कांग्रेस नेताओं को भाजपा की सदस्यता भी दिलाई जा सकती है।

प्रदेश कांग्रेस और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष को लेकर बदलाव की चर्चा के बीच भाजपा ने आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं। कमल नाथ की घेराबंदी के लिए भी रणनीति तय की गई है। सूत्रों का कहना है कि इसी के तहत 18 अगस्त को केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का छिंदवाड़ा में दौरा कार्यक्रम प्रस्तावित है। सिंधिया वहां कमल नाथ की नीतियों को लेकर हमलावर रहेंगे।

संगठन ने तय किया है कार्यक्रम

सिंधिया का यह दौरा पार्टी संगठन की ओर से निर्धारित किया है। सिंधिया इसी दिन राजगढ़ और गुना क्षेत्र में पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। पार्टी सूत्रों का कहना है कि प्रदेश में कांग्रेस की ओर से क्षेत्रों का अघोषित बंटवारा है। छिंदवाड़ा में कमल नाथ और नकुल नाथ तो गुना और राघौगढ़ क्षेत्र में राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह और उनके बेटे राजवर्धन सिंह के कार्यों में पार्टी हस्तक्षेप नहीं करती है।

कांग्रेस में रहने के दौरान सिंधिया लंबे समय तक छिंदवाड़ा नहीं गए थे। अब पार्टी संगठन की ओर से सिंधिया के ऐसे कार्यक्रम तय किए गए हैं कि वे भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ संवाद के दौरान कांग्रेस के अंसतुष्ट खेमे को भी प्रभावित करें।

इनका कहना है

ज्योतिरादित्य सिंधिया जी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं। पार्टी संगठन के निर्देश पर उनके दौरे तय होते हैं। कांग्रेस में क्षेत्रों को लेकर खेमाबंदी है। इसका नुकसान कांग्रेस को हो रहा है। सिंधिया जी के इन क्षेत्रों में जाने से पार्टी को फायदा मिलेगा।

- पंकज चतुर्वेदी, भाजपा नेता

कमल नाथ जी सिद्धांतों के प्रति अडिग और वास्तविक नेता हैं। सिंधिया जी के छिंदवाड़ा जाने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जनता वास्तविकता जानती है।

केके मिश्रा, प्रदेश कांग्रेस महामंत्री (मीडिया), मध्य प्रदेश

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay