HamburgerMenuButton

Madhya Pradesh Weather Update: जारी रहेगा बारिश का सिलसिला, तूफान आने के भी बन रहे आसार

Updated: | Wed, 12 May 2021 08:05 PM (IST)

Madhya Pradesh Weather Update: भाेपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मध्यप्रदेश और उसके आसपास बने वेदर सिस्टम के कारण वातावरण में नमी आने का सिलसिला बरकरार है। जिसके चलते प्रदेश के पूर्वी और उत्तरी क्षेत्र के जिलाें में गरज-चमक के साथ बरसात का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में बुधवार काे सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक सतना में पांच, ग्वालियर में दाे मिलीमीटर बारिश हुई। मौसम विज्ञानियाें के मुताबिक मौसम का इस तरह का मिजाज अभी तीन-चार दिन तक बना रहने के आसार हैं। उधर अरब सागर में एक ऊपरी हवा का चक्रवात बन गया है। इसके 14 मई काे कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील हाेने के बाद चक्रवाती तूफान बनने की संभावना है। इसका असर 16 मई से मप्र में भी नजर आ सकता है।

मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार काे राजधानी का अधिकतम तापमान 40.7 डिग्रीसेल्सियस दर्ज किया गया। जाे कि सामान्य रहा। न्यूनतम तापमान 23.4 डिग्रीसे. रिकार्ड किया गया। यह सामान्य से तीन डिग्रीसे. कम रहा। बुधवार काे हवा का रूख दक्षिणी बना रहने से वातावरण में नमी बढ़ने लगी थी। जिसके चलते दाेपहर बाद बादल छाने लगे थे। बीच-बीच में हवा की रफ्तार भी करीब 25 किमी. प्रति घंटा तक पहुंच गई थी। इस वजह से दिन के तापमान में अधिक बढ़ाेतरी नहीं हाे सकी।

छह सिस्टम हैं सक्रिय

मौसम विशेषज्ञ अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षाेभ पाकिस्तान पर सक्रिय है। पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थाना पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। दक्षिण-पूर्वी मप्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस चक्रवात से लेकर केरल तक एक द्राेणिका लाइन (ट्रफ) बनी हुई है। पंजाब पर भी एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना है। इस चक्रवात से लेकर असम तक एक ट्रफ बना हुआ है। इन छह वेदर सिस्टम के कारण प्रदेश के पूर्वी और उत्तरी क्षेत्र के जिलाें में रूक-रूक कर बारिश हाे रही है। गुरूवार काे भी रीवा, सागर, ग्वालियर, चंबल संभाग के जिलाें में बरसात हाेने की संभावना है। उधर वर्तमान में अरब सागर में एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इस सिस्टम के 14 मई काे कम दबाव के क्षेत्र में तब्दील हाेने की संभावना है। 16 मई काे यह सिस्टम चक्रवाती तूफान में बदलकर आगे बढ़ सकता है। इसके प्रभाव से 18-19 मई काे प्रदेश में तेज रफ्तार से हवाएं चलने के साथ कहीं-कहीं बरसात भी हाेने के आसार हैं।

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.