HamburgerMenuButton

MP Vaccination Maha Abhiyan: मध्‍य प्रदेश के साथ इंदौर ने भी रचा कोरोना टीकाकरण में इतिहास

Updated: | Tue, 22 Jun 2021 10:03 AM (IST)

MP Vaccination Maha Abhiyan: भोपाल,इंदौर। मध्‍य प्रदेश के साथ इंदौर ने भी कोरोना टीकाकरण में इतिहास रच दिया है। मध्यप्रदेश ने 1 दिन में सर्वाधिक टीकाकरण में देश में रिकार्ड बना लिया है। इंदौर ने भी ऐसा किया है। अधिकारिक जानकारी अभी आनी बाकी है। कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण महाअभियान में मध्य प्रदेश ने रिकॉर्ड बनाया है। एक दिन में करीब 16 लाख से ज्‍यादा लोगों को टीका लगाया गया। प्रदेश सरकार की ओर से दस लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इस महाअभियान को जन आंदोलन बनाने लक्ष्य से अधिक सफलता मिली। इंदौर संभाग के सभी ज़िलों में कुल मिलाकर सायंकाल 7बजे तक 3,56,567 व्यक्तियों का टीकाकरण किया गया है।

लोगों ने भी जबरदस्त उत्साह दिखाया और हर केंद्र पर लोग टीका लगवाने पहुंचे। कई टीकाकरण केंद्रों की आकर्षक सजावट की गई थी। लक्ष्य से अधिक सफलता पर मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के नागरिकों, समाजसेवियों, जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य विभाग के कार्यकर्ताओं और जिला प्रशासन को बधाई दी है।

प्रदेश सरकार ने सात हजार केंद्रों पर टीकाकरण की व्यवस्था की थी। सुबह से ही लोग टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचने लगे थे। मुख्यमंत्री ने इस महाअभियान के लिए समाज के हर वर्ग और विशेषकर धर्मगुरुओं को इसमें सहयोग मांगा था। समाज की ओर से भी कोरोना की गंभीरता को समझते हुए भरपूर सहयोग दिया गया।

दिनभर प्रेरक की भूमिका निभाने वाले जनप्रतिनिधियों और समाज के विशिष्टजनों की वीडियो संदेश इंटरनेट मीडिया पर वायरल होते रहे। मुख्यमंत्री ने भी कमान संभाली और वे दतिया, भोपाल, सीहोर के टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचे और लोगों को कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण का महत्व समझाया। उन्होंने दतिया जिला मुख्यालय पर टीकाकरण महाअभियान का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने यहां बाल प्रेरकों को सम्मानित भी किया।

इससे पहले उन्होंने मां पीतांबरा मंदिर में दर्शन कर प्रदेशवासियों की सुख, समृद्धि और बेहतर स्वास्थ्य की प्रार्थना की। उधर, टीकाकरण के आंकड़े चुनाव परिणाम की तरह अपडेट होते रहे। करीब साढ़े 15 लाख का यह आंकड़ा रात आठ बजे तक का है। अनुमान है कि देर रात तक यह आंकड़ा और अधिक होगा। इसी के साथ प्रदेश में कोरोना का टीका लगवाने वालों की संख्या 1,65,59,216 हो गई है। जो कुल वयस्क आबादी का करीब 35 फीसद है।

टीकाकरण में सभी प्रमुख शहरों ने खासा योगदान दिया। इंदौर में देर रात तक टीकाकरण का आंकड़ा दो लाख 12 हजार, भोपाल एक लाख 26 हजार, जबलपुर 60 हजार और ग्वालियर 55 हजार की संख्या पर पहुंच गया था।

मप्र कांग्रेस का ट्वीट शिवराज ने किया रीट्वीट

टीकाकरण को लेकर राजनीतिक मतभेद भी दरकिनार दिखे। कांग्रेस के ट्वीटर हैंडल से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने लोगों से टीका लगवाने की अपील की थी। ऐसी ही अपील प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अस्र्ण यादव ने भी की थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने दोनों के ट्वीट को रीट्वीट किया और लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने पर धन्यवाद दिया।

इससे खुश सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि देश में आज जितना वैक्सीनेशन हुआ है, उसमें मध्य प्रदेश ने अकेले 20% से ज़्यादा वैक्सीन लगा दी। अगर संपूर्ण वैक्सीनेशन हो गया तो हम कॉलेज, कोचिंग संस्थान खोल सकते हैं। हम 1, 2 और 3 जुलाई फिर एक महाअभियान चलाएंगे।

इंदौर संभागायुक्त डॉक्टर पवन शर्मा ने बताया है कि इन्दौर संभाग के सभी ज़िलों ने आज वैक्सीनेशन के महा अभियान में अपने निर्धारित लक्ष्य का सौ फ़ीसदी अर्जित कर लिया है। संभाग के सभी ज़िलों में कुल मिलाकर सायंकाल 7बजे तक 3,56,567 व्यक्तियों का टीकाकरण किया गया है। टीकाकरण का कार्य अभी सतत् जारी है और यह आंकड़ा अभी और बढ़ेगा। संभागायुक्त डॉक्टर शर्मा ने सभी ज़िलों के कलेक्टर और टीकाकरण कार्य में संलग्न स्वास्थ्यकर्मियों तथा अभियान में सहयोग देने के लिए जन प्रतिनिधियों और नागरिकों को बधाई दी है

इंदौर जिले में शाम 5:00 बजे तक 1लाख 62 हजार लोगों को वैक्सीन लगाई गई । कलेक्टर मनीष सिंह ने इसकी पुष्टि की ।शाम 7:00 बजे तक वैक्सीन सेंटरों पर वैक्सीन लगाई। 6 बजे तक 1 लाख 87हजार का आंकड़ा हो चुका थाा।

नईदुनिया/नवदुनिया की भी सहभागिता

टीकाकरण महाअभियान में नईदुनिया/नवदुनिया ने भी सहभागिता की। टीका लगवाओ, कोरोना भगाओ के सूत्र वाक्य के साथ मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में लोगों को प्रेरित किया और समाज के प्रमुख लोगों के माध्यम से टीकाकरण का महत्व समझाया। दोनों राज्यों में नईदुनिया/नवदुनिया की पहल रंग लाई और लोग बड़ी संख्या में टीकाकरण केंद्रों पर पहुंचे।

प्रधानमंत्री, प्रदेश की जनता...सभी को धन्यवाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन और उनके द्वारा राज्यों को निश्शुल्क टीका देने के निर्णय से टीकाकरण महाअभियान सफल हुआ है। मध्य प्रदेश अन्य राज्यों से अव्वल रहा है। सभी को धन्यवाद। यह मध्य प्रदेश के जनभागीदारी मॉडल की जीत है। इसमें शासकीय अमले सहित जनप्रतिनिधि, सामाजिक कार्यकर्ता, धर्मगुरू, पत्रकार, कलाकार, साहित्यकार, एडवोकेट, खिलाड़ी तथा सभी वर्ग के लोगों ने प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग किया है। मैं सभी का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। विश्वास है कि आगे भी इसी उत्साह के साथ सभी सहयोग देंगे। प्रदेश की क्षमताओं को देखते हुए केंद्र सरकार ने पांच लाख अतिरिक्त डोज भिजवाए। इसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को धन्यवाद देता हूं। हम संपूर्ण टीकाकरण के लक्ष्य को शीघ्र हासिल करेंगे। इसके लिए सभी विद्यार्थी स्वयंसेवक बन जाएं। टीकाकरण एवं कोविड अनुकूल व्यवहार दो ऐसे अस्त्र हैं जिनके माध्यम से हम मध्य प्रदेश में तीसरी लहर के असर को नगण्य कर देंगे। हमारा यह प्रयास रहेगा कि पहले तो कोई संक्रमित हो ही नहीं, यदि संक्रमित होता है तो उसे अस्पताल न जाना पड़े, वह घर पर ही स्वस्थ हो जाए और यदि अस्पताल जाना भी पड़े तो शीघ्र ठीक हो जाए। अस्पतालों में पूरी व्यवस्थाएं की जा रही हैं, जिससे मरीज तुरंत स्वस्थ हो सके। टीके को लेकर अब कहीं कोई भ्रम नहीं है।

- शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री (राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कार्यालय में अभियान की समीक्षा और विभिन्न् अवसरों पर कहा)

नंबर गेम (रात साढ़े नौ बजे)

16,01,548 प्रदेश में एक दिन में टीकाकरण

1,65,59,216 अभी तक प्रदेश में कुल टीकाकरण

---------

प्रमुख शहरों की स्थिति

इंदौर 218366

भोपाल 136018

जबलपुर 61740

ग्वालियर 60087

उम्‍मीद के अनुसार ही मध्‍य प्रदेश ने पहले दिन दस लाख कोरोना टीकाकरण का लक्ष्‍य हासिल कर लिया । दोपहर 2 बजे तक 7 लाख 10 हजार से अधिक लोगों का टीकाकरण हो चुका था। मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहाेर जिले के सिराली में टीकाकरण का पहले दिन का लक्ष्‍य हासिल करने की जानकारी दी । उन्‍होंने कहा यह सिर्फ शुरुआत है, हमारा लक्ष्य प्रदेश के सभी वयस्कों को टीका लगाना है। हमारे यशश्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन में एवं मध्यप्रदेश की जनता जनार्दन के उत्साह से हमने यह सफलता प्राप्त की है।

शिवराज ने कहा कि मप्र में टेस्ट बराबर जारी रहेंगे। किल कोरोना अभियान चलता रहेगा। कोविड के अनुरूप हमें व्यवहार करना पड़ेगा। कोरोना रोकने का रामबाण है वैक्सीन। वैक्सीन संजीवनी है। अपना काम है कि कोरोना की तीसरी लहर को आने से ही रोकें और दूसरा वैक्सीन सब को लगा दें। ताकि तीसरी लहर आये भी तो जिंदगी बची रहेगी। कोई भी भ्रम में न रहे। सभी वैज्ञानिकों ने जांची परखी और फिर कहा कि ये वैक्सीन बिल्कुल सही हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मंत्री, जन-प्रतिनिधियों और स्थानीय प्रशासन द्वारा लोगों को कोरोना से बचाने और इसके विरूद्ध जागरूक करने की मेहनत का प्रमाण आज वैक्सीनेशन सेंटर्स पर साक्षात दिखा।

आज शुरू हुए इस टीकाकरण महा-अभियान में जहां प्रात: 10 बजे तक यह संख्या 60 हजार थी, जो 11 बजे तक बढ़कर 1 लाख 75 हजार तक जा पहुंची। इसके बाद दोपहर 12 बजे तक 3 लाख 37 हजार से अधिक लोगों ने टीकाकरण करवाया। दोपहर एक बजे तक यह संख्या 5 लाख 21 हजार 920 हो गई। अभियान के 5 घंटे के अन्दर ही निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध 70 प्रतिशत से अधिक लोगों ने टीकाकरण करवाया। अभियान में 10 लाख लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया था।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.