प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जनजातीय गौरव दिवस पर 15 नवंबर को भोपाल आ सकते हैं

Updated: | Fri, 22 Oct 2021 08:05 PM (IST)

भोपाल। (राज्य ब्यूरो)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 नवंबर को भोपाल आ सकते हैं। वे यहां बीएचइएल के जंबूरी मैदान पर आयोजित होने वाले जनजातीय गौरव दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। वहीं, निजी भागीदारी से बने देश के पहले रेलवे स्टेशन हबीबगंज का उदघाटन भी कर सकते हैं। शासन ने उनके दौरे की संभावना को देखते हुए तैयारियां प्रारंभ कर दी हैं। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने शुक्रवार को जनजातीय गौरव दिवस की तैयारियों को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। वहीं, जिला प्रशासन भी तैयारियों में जुट गया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बिरसा मुंडा की जन्मतिथि 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है। इस दिन शासकीय अवकाश भी रहेगा। कार्यक्रम को बड़े रूप में मनाने की तैयारी की गई है। मुख्यमंत्री ने इसमें हिस्सा लेने और हबीबगंज रेलवे स्टेशन का उदघाटन करने के लिए प्रधानमंत्री को आमंत्रित किया है। हालांकि, अभी उनके आने की अधिकृत सूचना शासन को प्राप्त नहीं हुई है पर माना जा रहा है कि वे इस कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। इसको देखते हुए सरकार ने तैयारियां भी प्रारंभ कर दी हैं। जिला प्रशासन को बीएचइएल के जंबूरी मैदान पर प्रस्तावित कार्यक्रम के मद्देनजर तैयारियां करने के लिए कहा गया है।

उधर, मुख्य सचिव ने जनजातीय गौरव दिवस की तैयारियों को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। बताया जा रहा है कि कार्यक्रम में सरकार की ओर से अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए किए जा रहे कार्यों को बताया जाएगा। पिछले दिनों ही सरकार ने 89 आदिवासी विकासखंडों में मुख्यमंत्री राशन आपके द्वार योजना को लागू करने का निर्णय लिया है। इसकी शुरुआत नवंबर से होगी। वहीं, प्रधानमंत्री निजी भागीदारी से तैयार हुए देश के पहले विश्वस्तरीय हबीबगंज रेलवे स्टेशन का उदघाटन भी कर सकते हैं।

इसको लेकर सभी तैयारियां हो चुकी हैं। चार साल में सौ करोड़ रुपये की लागत से तैयार हुए इस स्टेशन में 46 हजार यात्रियों की क्षमता के हिसाब से तमाम आधुनिक सुविधाएं जुटाई गई हैं। राज्य सरकार के प्रवक्ता गृहमंत्री डा.नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जनजातीय गौरव दिवस पर बड़ा कार्यक्रम होगा। इसमें जनजातीय वर्ग के लिए किए जा रहे कामों को नीचे तक पहुंचाने का काम किया जाएगा।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay