Protest: सेंट्रल पंचायत ने काला दिवस मनाया, फरियादी के खिलाफ दर्ज एफआइआर रद्द करने की मांग

Updated: | Mon, 02 Aug 2021 05:55 PM (IST)

संत हिरदाराम नगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सिंधी सेंट्रल पंचायत भोपाल ने शाजापुर में बैंक कर्मी के साथ हुई मारपीट के मामले में फरियादी के खिलाफ दर्ज की गई एफआइआर को निरस्त करने एवं प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के रिश्तेदारों पर कार्यवाही की मांग को लेकर सोमवार को काला दिवस मनाया। पंचायत ने मंत्री के दबाव में झूठी एफआईआर दर्ज करने वाले क्षेत्र के थाना प्रभारी को बर्खास्त करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

पंचायत अध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश विधानसभा के पूर्व प्रमुख सचिव भगवान देव ईसरानी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों में काली पट्टी लगाई और काले झंडे लेकर प्रदर्शन किया। संत हिरदाराम नगर के शहीद हेमू कालानी चौराहे पर प्रदर्शन किया गया। ईसरानी ने आरोप लगाया कि मंत्री के भाई ने खुलेआम बैंक कर्मी से मारपीट की है इसके वीडियो फुटेज भी सामने आए हैं। इसके बावजूद बैंक कर्मी की रिपोर्ट लिखने के बजाय उसके साथ मारपीट की गई और एफआईआर दर्ज कर उसे जेल भेज दिया गया। यह सरासर अन्याय है। सिंधी समाज से अन्याय सहन नहीं करेगा, इसलिए इसके विरोध में हमने काला दिवस मनाया है। प्रदर्शन में राजकुमार वाधवानी भरत आसवानी, दीपक सत्तानी, पंचायत के महासचिव हरीश नागदेव एवं दिनेश मेघानी सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे

वीडियो फुटेज में दिख रहा है पूरा सच

ईसरानी के अनुसार घटनास्थल के वीडियो फुटेज में पूरा सच दिख रहा है। यह वीडियो इंटरनेट मीडिया में भी वायरल हुआ था। इसमें मंत्री इंदर सिंह परमार के भाई एवं उनके समर्थक बैंक कर्मी नरेश फुलवानी को दौड़ा-दौड़ा कर मार रहे हैं। उसकी बाइक भी छीन ली गई यह बाइक अभी तक बैंक कर्मी को नहीं मिल पाई है। बैंक कर्मी का पूरा परिवार डरा सहमा हुआ है उसे लगातार धमकियां मिल रही है, पंचायत ने प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री को भी पत्र लिखकर न्याय की गुहार की है इस संबंध में मानव अधिकार आयोग ने भी जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

Posted By: Lalit Katariya