मप्र में हवा का रुख बदलने से ठंड से मिली कुछ राहत, बौछारें पड़ने के आसार

राजधानी में डेढ़ डिग्रीसे. बढ़ा रात का तापमान।

Updated: | Fri, 21 Jan 2022 08:13 PM (IST)

भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। एक बार फिर अलग-अलग स्थानों पर चार वेदर सिस्टम सक्रिय हो गए हैं। इनके प्रभाव से हवाओं का रुख भी बदल गया है। वातावरण में नमी बढ़ने के कारण मध्यप्रदेश के ग्वालियर, चंबल, सागर, भोपाल संभागों के जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। उधर नमी बढ़ने के कारण फिलहाल रात का तापमान बढ़ने से ठंड से कुछ राहत मिल गई है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक सोमवार से मौसम साफ होने के आसार हैं।

मौसम विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी पीके साहा ने बताया कि शुक्रवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 25.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जो सामान्य रहा। साथ ही गुरुवार के अधिकतम तापमान 26.5 डिग्रीसे. की तुलना में 0.9 डिग्रीसे. कम रहा। न्यूनतम तापमान 11.3 डिग्रीसे. रिकार्ड किया गया। जो सामान्य से एक डिग्रीसे. अधिक रहा। यह गुरुवार के न्यूनतम तापमान 9.8 डिग्रीसे.के मुकाबले 1.5 डिग्रीसे. अधिक रहा।

ये चार सिस्टम सक्रिय हैं

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में उत्तरी पाकिस्तान पर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ ईरान और अफगानिस्तान के बीच ट्रफ के रूप में सक्रिय है। दक्षिणी पाकिस्तान और उससे लगे राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है। इसके अतिरिक्त मध्यप्रदेश के मध्य में भी हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। इन चार वेदर सिस्टम के सक्रिय रहने के कारण मौसम के मिजाज में बदलाव हुआ है। हवा का रुख भी दक्षिण-पूर्वी हो गया है। हवाओं के साथ नमी आने के कारण दिन के तापमान में कुछ कमी आने लगी है, वहीं रात का तापमान कुछ बढ़ने लगा है। शुक्ला के मुताबिक

शनिवार को ग्वालियर, चंबल, सागर, भोपाल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बौछारें पड़ सकती हैं। सोमवार से मौसम साफ होने की भी संभावना है।

Posted By: Lalit Katariya