HamburgerMenuButton

Today In Bhopal: शहर में 27 जनवरी को ये हैं कुछ खास कार्यक्रम, पढ़कर बनाएं अपना प्लान

Updated: | Wed, 27 Jan 2021 08:12 AM (IST)

Today In Bhopal: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। देश-प्रदेश के साथ-साथ शहर में अब लगभग तमाम गतिविधियां पुन: शुरू हो चुकी हैं। विभिन्‍न जगहों पर नए-नए आयोजन हो रहे हैं और लोग घूमने के लिए बाहर निकल रहे हैं। किंतु आप यह भी न भूलें कि कोरोना संक्रमण का खतरा कायम है। ऐसे में हमारी यही सलाह है कि घर से बाहर निकलते समय मास्क का उपयोग अवश्‍य करें और सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाकर चलें। आप कहीं भी जाएं, कोरोना गाइडलाइन का पूर्णत: पालन करें। यहां हम आपको बुधवार 27 जनवरी को शहर में होने वाले कुछ कार्यक्रमों की जानकारी दे रहे हैं। इससे आपको अपनी दिन की कार्ययोजना बनाने में आसानी हो सकती है।

- मप्र संस्कृति विभाग द्वारा गणतंत्र के उत्सव 'लोकरंग' रवींद्र भवन में मंगलवार से आरंभ हुआ। आज इस उत्‍सव के दूसरे दिन दोपहर 02.00 बजे से 'उल्लास' के तहत रवींद्र भवन के सभागार में बच्चों की फिल्में काफल और हैप्पी मदर्स डे दिखाई जाएंगी। इसके अलावा अलावा 'लोकराग' के तहत शाम 05.00 बजे से मुक्ताकाश मंच पर सुश्री गीता देवी द्वारा बुंदेली गायन पेश किया जाएगा। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल के गायक बामा प्रसाद द्वारा बाउल गायन की प्रस्‍तुति दी जाएगी। इसके बाद शाम 07.00 बजे से जनजातीय व लोकनृत्‍यों का कार्यक्रम आरंभ होगा। इसमें विभिन्‍न राज्‍यों के कलाकार समवेत नृत्यों की प्रस्‍तुति देंगे।

नौ कुंडीय महायज्ञ: अशोक बिहार स्थित मां दुर्गा शक्तिपीठ धाम में नौ कुंडीय महायज्ञ का आयोजन सुबह आठ बजे से।

हैंडलूम एक्सपो : मृगनयनी एंपोरियम द्वारा देश-प्रदेश के बुनकरों को विपणन सहायता उपलब्ध कराने हेतु गौहर महल में दो फरवरी तक स्पेशल हैंडलूम एक्सपो का आयोजन किया जा रहा है। उक्त आयोजन में 11 राज्यों के बुनकर आए हुए हैं। समय प्रतिदिन दोपहर 12 बजे से रात नौ बजे तक रहेगा।

सिल्क इंडिया प्रदर्शनी : कम्युनिटी हॉल, बिट्टन मार्केट में विभिन्न राज्यों के बुनकर हैंडलूम सिल्क साड़ियों की श्रृंखला लेकर आए हुए हैं। ओडिशा आर्ट एंड क्रॉफ्ट की ओर से आयोजित इस प्रदर्शनी में सुबह साढ़े दस से रात साढ़े आठ बजे तक खरीदी की जा सकती है।

प्रदर्शनी : भारत भवन में मप्र के दृश्यों पर आधारित जलरंग कला प्रदर्शनी को दोपहर दो बजे से देखा जा सकता है। इसी प्रकार मध्य प्रदेश जनजातीय संग्रहालय की लिखंदरा दीर्घा में भील समुदाय की युवा चित्रकार कामता ताहेड़ के चित्रों की प्रदर्शनी 'शलाका 10' सुबह 11 बजे से देखी जा सकती है।

माह का प्रादर्श : इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय में प्रत्यक्ष माह के प्रादर्श समृद्धि का प्रतीक 'परा" को सुबह 11 बजे से देखा जा सकता है।

Posted By: Ravindra Soni
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.