HamburgerMenuButton

Trial of Corona Vaccine in Madhya Pradesh: पहला डोज भोपाल में निजी स्कूल के एक शिक्षक को दिया गया

Updated: | Fri, 27 Nov 2020 10:58 PM (IST)

Trial of Corona Vaccine in Madhya Pradesh: भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि। भोपाल के पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में शुक्रवार को 9 लोगों को कोरोना को-वैक्सीन का ट्रायल डोज दिया गया है। प्रदेश का पहला डोज दोपहर दो बजे शहर के ही एक निजी स्कूल में पढ़ाने वाले शिक्षक को दिया गया। देर शाम तक सातों की तबीयत पूरी तरह ठीक थी। एक सप्ताह बाद इन सातों लोगों की जांच की जाएगी। शनिवार से अधिक लोगों को ट्रायल डोज देने की तैयारी कर ली गई है। जिन्हें पूर्व में कोरोना संक्रमण हुआ था उन्हें ट्रायल में शामिल नहीं किया जाएगा।

पीपुल्स यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर राजेश कपूर ने बताया कि ट्रायल में शामिल होने के लिए 18 लोग स्वेच्छा से आए थे। सभी से सहमति पत्र लेकर ट्रायल के लिए तय गाइड लाइन के अनुरूप उनकी जांचें की गईं। इनमें से सात लोग ट्रायल डोज के लिए फिट पाए गए थे।

दो हजार लोगों पर करेंगे ट्रायल

यूनिवर्सिटी प्रबंधन की तरफ से बताया गया है कि भोपाल में दो हजार लोगों पर ट्रायल किया जाएगा। इनमें से एक हजार लोगों को ट्रायल वैक्सीन के डोज लगेंगे। उन्हीं लोगों पर ट्रायल किया जाएगा, जो ट्रायल केे लिए तय गाइड लाइन के अनुरूप उचित पाए जाएंगे।

ऐसे करवाएं रजिस्ट्रेशन: सोमवार से शनिवार के बीच स्वेच्छा से कराएं

लोग ट्रायल में शामिल होने के लिए पीपुल्स कॉलेज भानपुर में सोमवार से शनिवार तक रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन का समय सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक रख गया है।

कौन सी है वैक्सीन: 28 हजार लोगों पर होना है तीसरे चरण का ट्रायल

कोरोना को-वैक्सीन आईसीएमआर के निर्देशन में भारत बायोटेक इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड हैदराबाद द्वारा तैयार की है। इसके तीसरे चरण का ट्रायल 28 हजार लोगों पर किया जाना है। इसके लिए 10 राज्यों के 25 मेडिकल कॉलेजों को चुना गया है। इसमें मप्र से शुक्रवार शाम तक एकमात्र पीपुल्स कॉलेज शामिल है।

सात दिन बाद, चार सप्ताह तक लेंगे फीडबैक

जिन लोगों को यह वैक्सीन लगाया गया है उन्हें तत्‍काल घर जाने दि‍या । जिन लोगों पर ट्रायल किया जाना है उनका फीडबैक सात दिन बाद लेना शुरू किया जाएगा। उसके बाद चार हफ्ते तक उनकी जांचें होंगी। कॉलेज प्रबंधन की तरफ से कहा गया है कि ट्रायल डोज लगने के बाद किसी को असहज लगता है या तबीयत खराब होती है तो वे कभी भी कॉलेज आ सकतेे हैं।

इनका कहना है

कोरोना को-वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल डोज देना शुरू कर दिया है। पहले दिन सात लोगों को ट्रायल डोज दिया है। सभी की तबीयत ठीक है। दो हजार लोगों पर ट्रायल करेंगे।

- राजेश कपूर, वाइस चांसलर, पीपुल्स यूनिवर्सिटी, भोपाल

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.