उमा भारती के तीखे तेवर, कहा- मध्य प्रदेश में शराब बंदी कराकर रहूंगी

Updated: | Sun, 19 Sep 2021 09:51 AM (IST)

भोपाल (राज्य ब्यूरो)। मध्य प्रदेश में शराब बंदी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के तेवर फिर तीखे हो चले हैं। शनिवार को राजधानी में अपने सरकारी आवास पर पत्रकारों से उन्होंने कहा कि प्रदेश में शराब बंदी कराकर रहूंगी। शरद पूर्णिमा (19 अक्टूबर) से शराब बंदी अभियान शुरू करूंगी और 15 जनवरी 2022 से खुद सड़क पर उतर जाऊंगी। ये अभियान शराब बंदी के लिए अधिकार प्राप्त प्राधिकरण बनाने के लिए होगा। उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शराब बंदी फार्मूले की तारीफ की। उमा भारती ने कहा कि गंगाजी की यात्रा 15 जनवरी 2022 को पूरी कर रही हूं। गंगाजी को गंगासागर छोड़कर आऊंगी और वहां से यह तय करके लौटूंगी कि मध्य प्रदेश में शराब बंदी होकर रहेगी। शराब बंदी से सरकार को 10 हजार करोड़ रुपये का घाटा होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजस्व की भरपाई के लिए फार्मूला है, जो बाद में बताऊंगी। मैंने शिवराज सिंह चौहान से कहा था कि अबकी बार ऐसी सरकार हो, जो गांधीजी के आदर्शों पर चले।

लठ्ठ से होगी शराब बंदी : उमा भारती ने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नशाबंदी और शराब बंदी जागरूकता अभियान से ही संभव है, पर मेरा मानना है कि शराब बंदी लट्ठ से होगी। उन्होंने शिवराज सिंह चौहान और विष्णु दत्त शर्मा की तारीफ करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश आज अपने दम पर खड़ा हुआ है। अब दोनों की जोड़ी के नेतृत्व में प्रदेश में शराब बंदी हो जाए। उमा भारती ने कहा कि नरेन्द्र मोदी चुनौतियों से डगमगाते नहीं हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में आने से कांग्रेस के पास कोई चेहरा नहीं बचा है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बयानों को लेकर उमा भारती ने कहा कि पता नहीं, उनको क्या हो गया है।

संगठन में कोई जिम्मेदारी नहीं लेंगी भारती

उमा भारती ने साफ कर दिया कि वे संगठन में कोई जिम्मेदारी नहीं लेंगी, जब तक गंगा नदी को निर्मल बनाए रखने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जाते हैं। इसके लिए मेट्रो की तरह अथारिटी बनाई जानी चाहिए।

कांग्रेस ने कहा - उमाजी, हम आपके साथ हैं

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया सलाहकार नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट किया है कि आप शिवराज सरकार के खिलाफ सड़कों पर आइए, हम आपके साथ हैं। सलूजा ने कटाक्ष भी किया। लिखा है कि आपने इससे पहले दो फरवरी 2021 को यही घोषणा की थी। तब महिला दिवस से अभियान शुरू करना था, पर आप गायब हो गईं। प्रदेश में जहरीली शराब से 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसलिए आप इस बार घोषणा पर कायम रहिएगा।

Posted By: Prashant Pandey