Crime News : दमोह में दो पेट्रोल पंप संचालकों में हुआ खूनी संघर्ष

Updated: | Sat, 25 Sep 2021 10:21 PM (IST)

दमोह, नईदुनिया प्रतिनिधि। तेंदूखेड़ा ब्लॉक के झलोन गांव में चार दिन पहले सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने के दौरान एक महिला ने जहर खा लिया था जो जबलपुर इलाज के लिए गई थी और वहां से लापता हो गई। अभी लापता महिला की जानकारी नहीं लग पाई और शनिवार रात दमोह में उसी मामले से जुड़े दो पक्ष आपस में भिड़ गए और उनके बीच खूनी संघर्ष हो गया। विवाद में एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया है जिसे जबलपुर रेफर किया गया है।

अस्‍पताल में कराया भर्ती : शनिवार रात शहर के गायत्री शक्ति पीठ गेट के समीप शैलेंद्र जैन और शिवांजय जैन के बीच झलोन मामले को लेकर विवाद हो गया जिसमे दोनों घायल हो गए उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया जहां वह एक दूसरे पर हमला करने का आरोप लगाते रहे। घायल शैलेंद्र जैन ने बताया कि झलोन में उसका पेट्रोल पंप संचालित है। उसके पंप के समीप ही शिवांजय जैन अपना पेट्रोल पंप संचालित करना चाहते हैं और इसको लेकर झूठी शिकायतें कर रहे हैं। बार-बार जान से मारने की धमकी भी देते हैं। वहीं दूसरे पक्ष से घायल शिवंजाय जैन का कहना है कि शैलेंद्र जैन उन पर झूठे आरोप लगा रहे हैं। दो दिन पहले ही उन्होंने झलोन गांव की एक महिला को लेकर उन पर अपहरण का आरोप लगाया है, जो झूठा साबित हो रहा है।

यह है मामला : दरअसल 4 दिन पहले झलोन गांव में राजस्व अमला सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने पहुंचा था। यहां पर झोपड़ी बनाकर रहने वाली दसोदा बाई रैकवार नाम की महिला ने अतिक्रमण का विरोध करते हुए जहर खा लिया था, जिसे इलाज के लिए तेंदूखेड़ा भेजा गया और स्वस्थ होने के बाद भी उसे नाटकीय ढंग से जबलपुर रेफर कर दिया गया। महिला का पति मंगल रैकवार भी उसके साथ जबलपुर गया और अगले दिन सुबह जब वह वापस लौटकर आया तो उसने बताया कि जो लोग गाडी से उसे व उसकी पत्नी को जबलपुर लेकर गए थे, उन्होंने उससे मेडिकल में पर्ची कटवाने के लिए कहा, जब वह लौटकर आया तो उसकी पत्नी और वह युवक वहां से गायब थे। मंगल ने अपनी पत्नी के अपहरण होने का आरोप शिवांजय जैन पर लगाया था। दमोह निवासी शैलेंद्र जैन नाम के व्यक्ति का पेट्रोल पंप झलोन में संचालित है। उसके बाजू में ही दमोह निवासी शिवांजय जैन पैट्रोल पंप संचालित करना चाहते हैं। मुख्य मार्ग से सटकर सरकारी जमीन है, जिस पर दसोदाबाई रैकवार और कुछ लोगों ने अतिक्रमण कर लिया था, जिसे हटाने के लिए शिवांजय जैन ने स्थानीय राजस्व विभाग को शिकायत की थी। जिसके बाद वहां का अतिक्रमण हटाया गया था। विवाद शिवानजय जैन और शैलेंद्र जैन के बीच व्यवसायिक प्रतिद्वंद्विता को लेकर है, जिसमें झलोन निवासी महिला दशोदाबाई आज भी लापता है। पुलिस के पास केवल उसके पति के साथ मेडिकल कालेज में साथ में दीखने के सीसीटीवी फुटेज है, लेकिन महिला का अभी तक कोई पता नहीं है और यहां दमोह में दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए हैं।

एक-दूसरे पर लगा रहे आरोप : जिला अस्पताल पहुंचे घायल शैलेंद्र जैन का कहना है कि शाम के वक्त वह खाना खाकर घर से अपने एक कर्मचारी के साथ निकले थे तभी गायत्री शक्ति पीठ गेट के समीप शिवांजय जैन, दीपू सराफ और 3-4 अन्य लोगों ने उसे रोका और गाली गलौज करने लगे। इसके बाद उन्होंने लोहे की रड व डंडों से उस पर हमला कर दिया, जिसमें वह बुरी तरह घायल होकर वहीं गिर गया। शैलेंद्र जैन का कहना है कि आरोपितो ने उसके साथ मारपीट की और उसके बाद पहले ही कोतवाली जाकर खुद को घायल बताकर झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने करा रहे हैं। वहीं दूसरे घायल शिवांजय जैन का कहना है कि शैलेंद्र जैन से उनका पुराना विवाद चल रहा है। वह उनको लेकर लगातार झूठी शिकायतें दर्ज करा रहे हैं। 4 दिन पहले भी शैलेंद्र जैन ने उनके खिलाफ एक महिला के अपहरण की झूठी शिकायत दर्ज कराई है, जबकि मामला झूठा है। उनका कहना है कि शैलेंद्र जैन और उसके कर्मचारी ने उस पर हमला किया है। इस मामले में कोतवाली टीआइ सत्येंद्र सिंह का कहना है कि शैलेंद्र जैन और शिवांजय जैन के बीच मारपीट हुई है। दोनों पक्षों के लोग घायल हुए हैं। दोनों पक्षों के खिलाफ धारा 323, 324, 326, 506, 34 के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है।

Posted By: Brajesh Shukla