Corona Vaccination in MP: धार जिले में नर्मदा नदी में फंसी वैक्सीनेशन टीम, रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 07:11 PM (IST)

Corona Vaccination in MP: गोपाल माहेश्वरी, डही (नईदुनिया न्यूज)। क्षेत्र के सबसे दुर्गम गांव कष्टा में इन दिनों वैक्सीनेशन कार्य पर जोर दिया जा रहा है। कारण यह है कि यह ग्राम नर्मदा नदी व ऊंचे -ऊंचे पहाड़ों से घिरा हुआ है। ऐसे में यहां जाना काफी दुर्गम भरा होता है। इसी के बीच सोमवार को यहां की एक कोविड वैक्सीनेशन टीम जब ग्राम कष्टा में नाव पर सवार होकर नर्मदा से गुजर रही थी। तभी नर्मदा के बीचों-बीच वैक्सीनेशन टीम की नाव फंस गई। बताया जा रहा है कि मछुआरों ने नर्मदा में जाल बिछाए हुए थे। नाव इन्हीं जाल के बीच उलझ कर फंस गई। बाद में नर्मदा पार बड़वानी जिले के बोरखेड़ी के 4 मछुआरे सहायता हेतु आए।छोटी दो नाव लेकर मछली के जाल को हटाकर बंद मोटरबोट को रस्सी से निकाला गया।एसडीम कुक्षी नवजीवन विजय पवार ने बताया कि करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद भी मोटरबोट नहीं निकल पाई। उक्त स्थान पर मोबाइल नेटवर्क सहायता हेतु उपलब्ध नहीं था।

ऐसे में नर्मदा में पानी बढ़ने के चलते वैक्सीनेशन टीम घबरा गई। जब मामला कलेक्टर पंकज कुमार जैन तक पहुंचा तो उन्होंने त्वरित कार्रवाई करने के एसडीएम कुक्षी नवजीवन विजय पवार को निर्देश दिए। कलेक्टर, जिला पंचायत सीईओ आशीष वशिष्ठ व एसडीएम के निर्देश पर तहसीलदार डही हितेंद्र भावसार, तहसीलदार कुक्षी जीएस डावर, जनपद पंचायत सीईओ एसडी माधवाचार्य, बीआरसी मनोज दुबे, जनपद पंचायत के गजेंद्रसिंह सोलंकी व शिक्षक पुष्पेंद्र सोलंकी, समाजसेवी मनीष मालवीया ने मामला हाथ में लिया।

अधिकारी सहित कई लोग मौके पर पहुंचे। रेस्क्यू कर वैक्सीनेशन टीम को सुरक्षित बाहर निकाला गया। इसके बाद भी वैक्सीनेशन टीम का हौसला देखते ही बनता था। मुसीबत से बाहर निकलने के बाद टीम सदस्य फिर टीकाकरण करने जुट गए। इधर नर्मदा किनारे दुर्गम ग्राम छाछकुंआ में बीईओ सतीश चंद्र पाटीदार की टीम सक्रियता से वैक्सीनेशन कराने में जुटी रही।

अब तो छोड़ो ना -नुकुर

यह घटना इस बात को सिद्ध करती है कि किस कदर वैक्सीनेशन कार्य के प्रति शासन प्रशासन गंभीर है। दूरस्थ व दुर्गम ग्राम के अंचल और घर-घर जाकर वैक्सीनेशन कार्य किया जा रहा है। इसके बावजूद भी कई लोग अभी ऐसे बचे हुए हैं जो वैक्सीन लगाने से परहेज कर रहे हैं। या ना- नुकुर कर रहे हैं। यह ऐसे लोगों के लिए सबक है कि आपके घर पहुंचने वाली टीम अपनी जान आफत में डाल रही है और आप वैक्सीन से दूर भाग रहे हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay