Ganpati Ghat Dhar: गणपति घाट पर थमेगी हादसों की रफ्तार

Updated: | Sat, 24 Jul 2021 02:16 PM (IST)

धार (नईदुनिया प्रतिनिधि), Ganpati Ghat Dhar। मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर राऊ से खलघाट के बीच गणपति घाट पर हादसे रोकने के लिए तैयारी शुरू कर दी है। वन विभाग ने अपनी 32 हेक्टेयर जमीन देने के लिए पूरी प्रक्रिया कर उच्च स्तर पर प्रस्ताव भेज दिया है। अब वन विभाग भोपाल और दिल्ली के माध्यम से जल्द ही जमीन उपलब्ध होने की उम्मीद बन गई है। सबसे अहम बात यह है कि सात किलोमीटर के घाट में जो सुधार कार्य होना है, वह संभवत जनवरी में शुरू हो जाएगा। माना जा रहा है कि जमीन प्राप्ति का मामला पूरी तरह से अगस्त में सुलझ जाएगा और निविदा प्रक्रिया भी शुरू होने की स्थिति बन जाएगी। ज्ञात हो कि गणपति घाट में हो रहे हादसों को लेकर नईदुनिया ने 17 जून को समाचार प्रकाशित किया था। जिले में गणपति घाट में आए दिन हादसों को लेकर आंदोलन हुए और परिणाम स्वरूप गणपति घाट पर निर्माण कार्य को लेकर योजना बनाई गई।

बता दें कि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा करीब सात किलोमीटर के हिस्से में नया फोरलेन तैयार कराया जाएगा। इसी से पुराने फोरलेन को जोड़ दिया जाएगा। ताकि ढलान यानी ग्रेडिएंट अधिक होने की समस्या समाप्त हो जाएगी और सारी व्यवस्थाएं ठीक हो जाएंगी। यह भी बता दें कि सीधी ढलान अधिक होने से लगातार हादसे हो रहे हैं। अब तक इसमें 500 से अधिक लोग अपनी जान गवां चुके है।

सिक्स लेन के लिए जल्द सर्वे

मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर इंदौर से लेकर खलघाट और आगे के हिस्से में भी बड़े स्तर पर सर्वे करने की व्यवस्था हो जाएगी। सूत्रों की मानें तो जल्द ही ड्रोन उड़ाया जाएगा। इसके बाद छह लेन बनाने के लिए प्रस्ताव तैयार होगा। वन विभाग के जिला अहकारी अक्षय राठौड़ ने बताया कि हमने प्रक्रिया पूरी कर ली है। करीब एक पखवाड़े पूर्व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी और वन विभाग की टीम ने संयुक्त रूप से मौके का अवलोकन भी कर लिया था।

Posted By: Prashant Pandey