ग्वालियर में 255 पंचायत, 265 मतदान केंद्र संवेदनशील, हर केंद्र पर रहेंगे पांच लोग

Updated: | Tue, 07 Dec 2021 10:15 AM (IST)

ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले में पंचायत चुनाव में 265 मतदान केंद्र संवेदनशील हैं। 90 केंद्र अतिसंवेदनशील घोषित हैं। हर मतदान केंद्र पर पांच लोगों की पोलिंग पार्टी रहेगी। इसके अलावा अन्य शेष कर्मचारी रहेंगे। पंचायत चुनाव के लिए जिले के मतदान केंद्रों के भौतिक सत्यापन के बाद यह रिपोर्ट आयोग को भेजी गई थी। कुल 839 केंद्रों का सत्यापन किया गया था। जिले में 4182 पंच, 255 सरपंच, 99 जनपद सदस्य और 13 जिला पंचायत सदस्यों के लिए एक साथ मतदान होगा। जिले में संवेदनशील और अतिसंवेदनशील केंद्रों को ध्यान में रखते हुए पुलिस और प्रशासन की तैयारी है। सुरक्षा व्यवस्था का प्लान तैयार कर लिया गया है। मुरार और घाटीगांव के लिए स्ट्रांगरूम और मतगणना स्थल डा भीमराव आंबेडकर पालिटेक्निक कालेज प्रस्तावित है। डबरा के लिए स्ट्रांगरूम और मतगणना स्थल नवीन कृषि उपज मंडी और भितरवार के लिए स्ट्रांगरूम और मतगणना स्थल कृषि उपज मंडी भवन प्रस्तावित किया गया है।

संवेदनशील-अतिसंवेदनशील केंद्रों की स्थिति

-मुरार के 180 मतदान केन्द्र में से में 87 संवेदनशील,34 अतिसंवेदनशील

-डबरा के 221 मतदान केन्द्र में से 50 संवेदनशील,12 अतिसंवेदनशील

-घाटीगांव के 187 मतदान केन्द्र में से 59 संवेदनशील,29 अति संवेदनशील

-भितरवार के 251 मतदान केन्द्र में से 69 संवेदनशील,15 अतिसंवेदनशील

फैक्ट फाइल:जिला,जनपद और ग्राम

-जिला पंचायत के वार्ड 13

-जनपद के वार्ड 99

-सरपंच मुरार में 60, घाटीगांव में 45, डबरा में 68 और भितरवार में 82 पंचायत

-पंच डबरा में 1152, भितरवार में 1348, घाटीगांव में 788 और मुरार में 93

जिला-जनपद स्तर पर कंट्रोल रूम,अनुमतियों के लिए सिंगल विंडोः त्रि-स्तरीय पंचायतों के आम निर्वाचन 2021-22 के लिए निर्वाचन की घोषणा होने के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। आदर्श आचार संहिता का पालन सख्ती के साथ कराया जाए। निर्वाचन की सभी तैयारियां समय रहते पूर्ण हों, यह भी सुनिश्चित किया जाए। निष्पक्ष और स्वतंत्र निर्वाचन के लिए कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने सोमवार को स्टेंडिंग कमेटी की बैठक में यह निर्देश दिए। ग्वालियर जिले में पंचायत चुनाव प्रथम चरण में 6 जनवरी को आयोजित होंगे। बैठक कहा गया कि जिला व जनपद स्तर पर शिकायतों के निराकरण के लिए कंट्रोल रूम गठित किए जाएं और पंचायत चुनाव संबंधित एनओसी-अनुमति के लिए सिंगल विंडो प्रणाली रहेगी।

निर्वाचन के दौरान कोविड प्रोटोकाल जरूरीः कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बैठक में यह भी निर्देश दिए हैं कि निर्वाचन के दौरान कोविड प्रोटोकाल का पालन हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए। मतदान दलों को भी कोविड प्रोटोकाल के पालन हेतु जो आवश्यक सामग्री है वह प्रदान की जाए। मतदान के दौरान भी मतदान केन्द्र पर कोविड प्रोटोकाल का पालन हो, यह भी ध्यान दिया जाए।

Posted By: vikash.pandey