Child service scheme : पहुंचने लगी इमदाद, सरकार ने जारी की दो किश्तें

Updated: | Mon, 27 Sep 2021 12:55 PM (IST)

Gwalior Child service scheme: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। मुख्यमंत्री कोविड बाल सेवा योजना में घोषणा करने के बाद इमदाद देना भूलने के मामले में अब सरकार ने दो किश्तें जारी कर दी हैं। इसमें जून और जुलाई माह की पांच हजार रूपए मासिक हिसाब से दो किश्त जारी हुई हैं। मई में यह योजना लागू हुई थी और सरकार पहली किश्त देकर भूल गई थी। ग्वालियर से अब इस योजना में कुल 41 बच्चे हैं जिनमें सबसे पहले माह में जुडे 25 बच्चों को दो इन किश्तों को मिलाकर कुल तीन किश्त मिल चुकी हैं। शेष बच्चों-युवाओं को एक से दो दिन में किश्तें जारी होने वाली हैं। नईदुनिया ने 12 अगस्त को इस मामले को प्रमुखता से उठाया था जिसमें बताया था कि सरकार ने सिर्फ घोषणा की है और इमदाद के लिए पात्र इंतजार में हैं। इसके बाद से ही शासन स्तर पर प्रयास शुरू हो गए थे और स्थानीय अफसरों ने भी वरिष्ठ अफसरों से चर्चा की थी।

क्या है मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना

मुख्यमंत्री कोविड बाल कल्याण योजना 21 साल तक के उन युवाओं, नाबालिगों और बच्चों के लिए प्रदेश सरकार लेकर आई जिन्होने अपने माता पिता को कोरोना काल में खो दिया। ऐसे पीडितों के लिए पांच हजार रूपए मासिक राशि, हर माह पांच किलो मुफ्त राशन और मुफ्त शिक्षा का प्रविधान है। मुख्यमंत्री ने तीस मई को इस योजना के तहत ग्वालियर सहित प्रदेश के बच्चों से बात की थी और पहली किश्त सीधे बच्चों के खाते में अंतरित कराई थी।

19 जुलाई को मुख्यमंत्री ने की थी बात

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 19 जुलाई को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से इस योजना के तहत बच्चों से बात की थी और इस दिन दूसरी किश्त अंतरित करने का निर्णय लिया गया था लेकिन यहां मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए थे कि विभाग एक बार पीडितों के घरों में जांच करे कि पात्र बच्चों को मदद पहुंच रही है या नहीं। यह जांच ग्वालियर जिले में 27 जुलाई तक पूरी कर ली गई।

राशन का इंतजार

मुख्यमंत्री की योजना में मुफ्त राशन व शिक्षा की घोषणा भी शामिल है लेकिन अभी तक घोषणा ही बनी हुई है। महिला एवं बाल विकास विभाग ने राशन के लिए बच्चों की सूची जरूर बनाकर खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग को दे दी है लेकिन राशन नहीं पहुंचा है।

Posted By: anil.tomar