Dengue in Gwalior: डेंगू पर प्रहार करें नहीं तो मनवाएगा दिवाली अस्पताल में

Updated: | Mon, 25 Oct 2021 08:35 AM (IST)

Dengue in Gwalior: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। डेंगू जिस गति से बढ़ रहा है उससे यह अनुमान तो लगाया जा सकता है कि कुछ परिवारों की दीपावली अस्पताल में ही मनेगी। डेंगू की रोकथाम के लिए संभागायुक्त के निर्देश पर दो दिन जागरुकता अभियान चलाया जाना था लेकिन उसकी भी हवा निकल गई। शासन प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम के डेंगू की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयास न काफी है। यही कारण है कि डेंगू तेजी से बढ़ता जा रहा है और मरीज हर दिन निकल रहे हैं। चं

द रोज बाद दीपावली का त्योहार डेंगू के कारण फीका होने वाला है। डेंगू जिस गति से बढ़ रहा है उससे साफ है कि यह वर्षो के रिकार्ड तोड़ने वाला है। इस मौसम में अबतक डेंगू के 1142 मामले मिल चुके हैं। जिसमें चार बच्चों की मौत भी डेंगू से हो चुकी है। हालांकि मौत का आंकड़ा इससे कहीं अधिक है। क्योंकि डेंगू से कमलाराजा अस्पताल में ही एक दर्जन बच्चों की मौत हो चुकी है। वर्ष 2018 में डेंगू के 1202 केस मिले थे। इससे पहले 2015 से अबतक इतनी संख्या में कभी डेंगू मरीज नहीं मिले। जबकि इस बार यह आंकड़ा बढ़ने वाला है और कई वर्षों का रिकार्ड तोड़ेगा।दीपावली का त्योहार नजदीक आ चुका है। इधर डेंगू का प्रहार जारी है। डेंगू के कारण करीम पांच सौ मरीज अलग अलग अस्पतालों में इलाज ले रहे हैं। डेंगू पीड़ित मरीजों के स्वजनों के सामने समस्या खड़ी है। वह त्योहार मनाएं या फिर मरीज का इलाज कराएं ।आलम यह है कि लोग घर की साफ सफाई और सजावट पर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। क्योंकि उनकी जमा पूजीं इलाज लेने में अस्पताल में खर्च हाे रही है। शासन प्रशासन का डेंगू की रोकथाम के लिए जागरुकता अभियान सुस्त पड़ा है और डेंगू मरीज बढ़ते जा रहे हैं।

गौरतलब है कि रविवार को अवकाश के चलते जीआर मेडिकल कॉलेज की लैब से डेंगू की रिपोर्ट जारी नहीं हुई लेकिन जिला अस्पताल की जांच में 6 डेंगू मरीज मिले हैं। यह सभी मरीज ग्वालियर के रहने वाले हैं और इसमें तीन बच्चे शामिल हैं। डेंगू के जिला में 1142 मरीज मिल चुके हैं जिसमें 60 फीसद संख्या 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों की है। डेंगू के कारण अस्पताल में मरीजों की भीड़ बढ़ती जा रही है। दीपावली के त्योहार पर हर घर में साफ सफाई की जाती है। इस बार साफ सफाई कुछ इस तरह से की जाए कि घर व आसपास के क्षेत्र में साफ पानी को जमा न होने दें। जहां पर साफ पानी जमा हो वहां पर सफाई करें। जहां पर अधिक मात्रा में पानी जमा है वहां पर मलेरिया विभाग को सूचना देकर दवा का छिड़काव कराएं। घर में जमा पानी को साफ करें।

यह रखें सावधानी

-बच्चों को खुले में अधिक समय के लिए न जाने दें।

-फुल अास्तीन के कपड़े पहनाएं।

-बुखार आने पर डाक्टर से परामर्श लें और डेंगू जांच कराएं।

-रात में सोते समय मच्छर दानी लगाएं ।

Posted By: anil.tomar