Dengue in Gwalior: एडिज के निशाने पर 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे, रहें सावधान

Updated: | Sat, 23 Oct 2021 10:02 AM (IST)

Dengue in Gwalior: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जीआर मेडिकल कालेज और जिला अस्पताल से शुक्रवार को आई डेंगू की जांच रिपोर्ट में 100 डेंगू मरीज पाए गए। जिसमें 65 मरीज ग्वालियर के रहने वाले हैं। खास बात यह है कि 100 मरीज की रिपोर्ट में 47 बच्चे हैं जिनकी उम्र 18 वर्ष से कम है। वहीं दूसरे डेंगू के सबसे अधिक शिकार 18 से 40 साल की उम्र वाले लोग हैं। डेंगू हर दिन तेजी से फैल रहा है। जिले में डेंगू का आंकड़ा अब तक 1061 पर पहुंच चुका है। पिछले 52 दिनों में डेंगू तेजी से फैला है। इन 52 दिनों में डेंगू के 1045 केस मिले हैं। हर दिन डेंगू के 20 मरीज मिल रहे हैं।

अस्पताल में तेजी से बढ़ रहे डेंगू मरीज: डेंगू पीड़ित मरीजों की संख्या सरकारी से लेकर निजी अस्पतालों में तेजी से बढ़ रही है। अस्पताल में डेंगू मरीजों की बढ़ती संख्या के कारण जगह खाली नहीं बची है। डेंगू के कारण मरीज की प्लेटलेट्स घट रही हैं। प्लेटलेट्स चढ़वाने के लिए लोग सरकारी ब्लड बैंक से लेकर निजी ब्लड बैंक में प्लेटलेट्स निकलवाने के लिए पहुंच रहे हैं। जेएएच के ब्लड बैंक में प्लेटलेट्स निकालने वाली तीन जंबों किट की ही उपलब्धता है। यदि शनिवार को किटों की सप्लाई नहीं मिलती है तो समस्या खड़ी हो सकती है।

डेंगू की रोकथाम के लिए करें प्रयासः

-डेंगू की रोकथाम के लिए घर व बाहर साफ सफाई रखें।

-घर व बाहर खुले में साफ पानी जमा न होने दें।

-बच्चों का बाहर अधिक समय तक न खेलने दें।

-बच्चों को फुल आस्तीन के कपड़े पहनाएं।

-बुखार आए तो डाक्टर से परामर्श लें और डेंगू की जांच कराएं।

डेंगू की रोकथाम के लिए शुरू हुआ जागरुकता अभियानः डेंगू के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए संभागायुक्त आशीष सक्सेना के निर्देश पर जिला सरकार, स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम ने आज से जागरुकता अभियान शुरू किया है। जिसमें डेंगू की रोकथाम के लिए लाेगाें को प्रेरित करने के साथ उन्हें बताया जा रहा है कि किस तरह से डेंगू घातक है और उसका लार्वा किस तरह से पनपता है। साथ ही हम लार्वा को किस तरह से नष्ट कर अपने परिवार को सुरक्षित कर सकते हैं।

Posted By: vikash.pandey