ग्‍वालियर: सुविधा का पुल उतरते-चढ़ते दुविधा का तिराहा

Updated: | Mon, 06 Dec 2021 11:30 AM (IST)

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। यातायात को सुगम बनाने और पुराने पड़ाव पुल (शास्त्री ब्रिज) का दबाव कम करने के लिए जो नया पड़ाव आरओबी बनाया, उस पर सफर करना फिलहाल आसान नहीं है। सिंधिया कन्या विद्यालय (एसकेवी) की ओर से पुल पर चढ़ने के लिए और इसी ओर उतरने के लिए दुविधा भरे तिराहे का सामना हर वाहन चालक को करना पड़ता है। कला वीथिका की ओर से सिंधिया स्कूल की ओर जाने वाले वाहन और पड़ाव पुल से उतरकर कला वीथिका की ओर मुड़ने वाले वाहन, इन दो ओर के वाहनों के कारण पूरे मार्ग का यातायात अवरुद्घ होता है। यहां अस्थाई डिवाइडर तो है, लेकिन उसे खोल कर छोड़ दिया गया है, ताकि जिसे जैसे निकलना हो निकले। यातायात पुलिस को न जाम की फिक्र न वाहनों चालकों की मुसीबत की चिंता है।

अभी तक यातायात मैनेजमेंट नहीं

कला वीथिका की ओर से आने वाला यातायात एसकेवी की ओर जाने के लिए बीच में ही घुस जाता है। इस कारण सीधे पुल पर चढ़ने वाला यातायात और दूसरी ओर उतरने वाला यातायात दोनों अटक जाते हैं। वहीं पड़ाव आरओबी से उतरने वाले वाहन बीच में डिवाइडर खुला होने पर राइट टर्न लेकर कला वीथिका की ओर मुड़ते हैं, जिस कारण और मुसीबत होती है। ऐसे में तीनों ओर यातायात जाम में फंस जाता है, वाहन रेंग-रेंग कर चलते हैं।

पीक टाइम

बुरा हाल, बाटल नेक ट्रैफिक: पीक टाइम यानी शाम के समय यहां से खुले हुए डिवाइडर वाले प्वाइंट पर बाटल नेक ट्रैफिक जैसे हालात बन जाते हैं। पीक टाइम पर यहां से करीब एक घंटे में 800 से हजार वाहन गुजरते हैं। शाम के समय न कोई यातायात पुलिस का जवान रहता है न बैरिकेड व्यवस्थित होते हैं। इस कारण सीधे जाने वाले वाहनों का समय बर्बाद होता है। कई बार तो 15-20 मिनट तक जाम खुलने का इंतजार करना पड़ जाता है।

सुझाव

1. यहां डिवाइडर को पूरा बंद कर एसकेवी से पुल की ओर जाने वाले और उतरने वाले वाहनों को सीधा निकाला जाए।

2. पड़ाव आरओबी से कला वीथिका की ओर मुड़ने वाले वाहन आगे परम रेस्टोरेंट से यू टर्न लेकर जा सकते हैं।

3. जिन्हें कला वीथिका की ओर से एसकेवी जाना है, पड़ाव चौराहे से सीधे जाकर लक्ष्मीबाई स्मारक के सामने लेफ्ट टर्न लेकर जा सकते हैं।

पड़ाव आरओबी समाप्त होने वाले तिराहे पर पहले छोटी रोटरी और सिग्नल लगाने का तय हुआ था। इसके लिए तत्कालीन एएसपी व टीम ने निरीक्षण भी किया था। इसको लेकर प्रबंधन किया जाएगा, लोगों की परेशानी जल्द दूर होगी।

नरेश अन्नोटिया, डीएसपी, यातायात पुलिस

Posted By: anil.tomar