ग्वालियर में चार दिन में प्रापर्टी कारोबारी सहित पांच की हत्या, केवल एक मामले का ही आरोपित गिरफ्तार

Updated: | Sun, 05 Dec 2021 07:30 AM (IST)

- पुलिस के सामने सबसे बड़ी चुनौती- पप्पू राय के अधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने की है

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। लंबी खामोशी के बाद साल के अंतिम महीने में पिछले चार दिन में चार लोगों की हत्या की सिलसिलेवार चार वारदातें हुईं हैं। पुलिस केवल एक कैलाश जाटव की हत्या के आरोपित को पुलिस पकड़ पाई है। पता चला है कि प्रौढ़ का सिर पत्थर से कुचलने के बाद आरोपित स्वयं थाने पहुंच गया था। पुलिस के सामने बड़ी चुनौती प्रॉपर्टी कारोबारी पप्पू राय के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने की है। इसके साथ ही भितरवार में लूट के मामले में जमानत पर छूटकर आए रामू की गोली मारकर हत्या करने वालों का दूसरे दिन भी कोई सुराग नहीं लगा है। इलेक्ट्रीशियन गणेश शर्मा की हत्या की गुत्थी उलझी हुई है। हालांकि पुलिस का दावा है कि गणेश की हत्या में लिप्त संदेही की पहचान कर ली है। संदेही के पकड़ में आने के बाद हत्या का राज खुल जाएगा।

- पप्पू की राय के हत्यारों का तीसरे दिन भी कोई क्लू नहीं लगा

आनंद नगर निवासी पप्पू उर्फ रामकुमार राय की दो बदमाशों ने घर के सामने ही दुस्साहसिक तरीके से गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। मृतक के आंख पर सहित शरीर में पांच गोली धंसी मिली थी। नजदीक से गोली मारने के कारण एक गोली शरीर के आरपार निकल गई थी। हत्या का आज तीसरा दिन था। तीन दिन की पड़ताल में पुलिस हत्यारों की पहचान नहीं कर पाई है। पुलिस को संदेह है कि पप्पू राय की भाड़े के शूटरों ने हत्या की है। मृतक का भी चार साल पूर्व का लंबा आपराधिक रिकार्ड है। इनमें दो हत्या के मामले हैं। इसके अलावा पप्पू राय मोटा पैसा कमाने के लिए दबंगाइ के बल पर विवादित जमीनों में हाथ डालता था। पुलिस ने हत्यारों के घटनास्थल व हत्या के बाद भागने का रुट का पता लगाकर पहुंचने का प्रयास किया, लेकिन कई सीसीटीवी कैमरे बंद मिलने के कारण पुलिस केवल मोतीझील तक पहुंच पाई। इसके बाद पुलिस भटक गई। पुलिस अब पुलिस की रंजिश, और विवादित जमीन के सौदों में हत्यारों के साथ हत्या का तनाबाना बुनने की तलाश कर रही है।

इलेक्ट्रीशियन की हत्या-संदेही की तलाश कर रही है पुलिस

बुधवार की रात को सिंहपुर रोड पर स्थित हाकर्स जोन में इलेक्ट्रीशियन गणेश शर्मा का शव खून में लथपथ हालत में पड़ा मिला था। युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या की गई थी। हत्यारे ने गणेश की हत्या करने के लिए चाकू से एक दो नहीं गिनती के 16 वार किए थे। हत्या के इस प्रकरण में पुलिस का दावा है कि संदेही की पहचान कर ली गई है। संदेही के पुलिस की गिरफ्त में आते ही इलेक्ट्रीशियन के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझ जाएगी। क्योंकि संदेही इसी तरीके से हुई हत्या के मामले में चौदह साल पहले नामजद रह चुका है। पुलिस के खबरियों ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि संदेही को बुधवार की रात को इसी क्षेत्र में चाकू लेकर घूमता देखा गया था।

मकान के बंटवारे में भाई की गोली मारकर हत्या

तृप्ति नगर (कुम्हरपुरा) में गुरुवार की रात को ही सोनू शर्मा ने मकान में हिस्से को लेकर छोटे भाई रवि शर्मा व बहन पूनम में गोली मार दी। घायल की हत्या के दूसरे दिन इलाज के दौरान मौत हो गई। हत्या के मामले में सोनू की पुलिस तलाश कर रही है। सोनू व चार साल पहले हुए हत्या के मामले में नामजद है। हत्या की वजह और आरोपित के तस्वीर साफ होने के बाद भी पुलिस दो दिन में हत्या के आरोपित को पकड नहीं पाई है। पुलिस का दावा है कि आरोपित की तलाश की जा रही है।

भितरवार में गोली मारकर रामू की हत्या

भितरवार थाना क्षेत्र में स्थित करियाटी गांव के पास रामू पुत्र पतराम कुशवाह की गुरुवार की रात में अज्ञात लोगों ने कनपटी में गोली मारकर हत्या कर दी। युवक का शव खेत में ग्राम सांखनी व धूमेश्वर के मार्ग में स्थित एक खेत में तड़के खून में लथपथ हालत में पड़ा मिला था। मृतक रात में अपने खेत में पानी देने की कहकर घर से निकला था। पुलिस को आशंका है कि किसी पुरानी रंजिश के चलके युवककी गोली मारकर हत्या हुई है। पुलिस हत्यारों की पहचान करने के लिए हर एंगल से जांच करने का दावा कर रही है। अब तक पुलिस हत्यारे की पहचान नहीं कर पाई है।

Posted By: anil.tomar