Gwalior Atal Smarak News: सीएम की उच्च प्राथमिकता वाला अटल स्मारक, अफसरों की लिस्ट में आखिरी नंबर पर

Updated: | Sat, 25 Sep 2021 07:30 AM (IST)

- जितना अहम प्रोजेक्ट उतनी ही सुस्ती, विजन डाक्यूमेंट की समीक्षा बैठक में जिक्र तक नहीं

- माननीय भी नहीं ले रहे रुचि, उपचुनाव में हुई थी सबसे पहली बार घोषणा

Gwalior Atal Smarak News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उच्च प्राथमिकता में शामिल ग्वालियर में प्रस्तावित भव्य अटल स्मारक अफसरों की प्राथमिकता में नहीं है। नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के सामने गुरुवार को ग्वालियर के विजन डाक्यूमेंट में इस बहुप्रतीक्षित अटल स्मारक की योजना को सबसे आखिरी में सरका दिया गया है। रोडमैप में तीन से पांच साल में पूरी होने वाली परियोजनाओं में सबसे आखिरी नंबर पर यह है, इसलिए न बात हुई न समीक्षा। यह स्थिति तब है जब हाल ही में सीएम ने खुद इसको लेकर दोबारा घोषणा की थी और कुछ दिनों पहले ही प्रदेश के गृह मंत्री इसके प्रस्तावित स्थलों का जायजा लेने गए थे।

देश का विश्वभर में नाम करने वाले ग्वालियर के अटल बिहारी वाजपेयी के इस अटल स्मारक परियोजना को लेकर ग्वालियर के माननीय भी अब चिंतित नहीं हैं। खुद बुधवार और गुरुवार को अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा स्वागत यात्रा और विभिन्ना कार्यक्रमों में सिंधिया के साथ रहे। मिश्रा सहित अन्य माननीय ने अटल स्मारक का जिक्र भी नहीं किया।

ज्ञात रहे मुख्यमंत्री ने सबसे पहले उपचुनाव में ग्वालियर में भव्य अटल स्मारक बनवाने की घोषणा की थी। इसके बाद दिसंबर 2020 में सीएम ने वीडियो कांफ्रेसिंग लेकर इस पर चर्चा की। इसके बाद फिर सीएम ने इसकी घोषणा की। संस्कृति विभाग की टीम ग्वालियर आकर प्रस्तावित स्थलों का भ्रमण कर चुकी है, जिसमें पहले नंबर पर सिरोल पहाड़ी और फिर रमौआ बांध के पास वाली जमीन को रखा गया है।

अटल स्मारक: दस एकड़ पर है प्रस्तावित

प्रतिमा: अटल स्मारक में अटलजी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। यह प्रतिमा विशेषज्ञ मूर्तिकार के माध्यम से तैयार कराने का प्रस्ताव है। प्रतिमा का स्वरूप-आकार तय किया जा रहा है।

पार्क: अटल स्मारक में भव्य पार्क बनेगा, इसे फुलवारी और चुनिंदा किस्म के पौधों को लगाया जाएगा। पार्क का आकार अत्याधुनिक डिजाइन के आधार पर रहेगा।

लाइब्रेरी: अटलजी के जीवन से जुड़ा साहित्य और उनसे जुड़ी किताबें, दैनिक समाचार पत्र सहित सभी तरह के दस्तावेज यहां सहेजे जाएंगे।

गैलरी: गैलरी में अटलजी के बाल अवस्था से लेकर उनके युवा अवस्था, परिवार, राजनीतिक यात्रा से जुड़ी तस्वीरों को सजाया जाएगा।

वर्जन

अटल स्मारक परियोजना का स्थल अभी चयनित नहीं हुआ है। विजन डाक्यूमेंट में इसे तीन से पांच साल वाली योजना में रखा गया है। चयन की प्रक्रिया अंतिम रूप से शासन स्तर पर होना है। हम भी मानीटरिंग कर रहे हैं।

आशीष सक्सेना, आयुक्त, ग्वालियर संभाग

अटल स्मारक परियोजना बेहद महत्वपूर्ण है। यह सही है कि इसको लेकर विजन डाक्यूमेंट की बैठक में चर्चा नहीं हो सकी। संगठन स्तर पर भी इसमें प्रयास तेज होना चाहिए, अटलजी हमारे गौरव हैं। मैं इस संबंध में संभागायुक्त और कलेक्टर से चर्चा करूंगा।

कमल माखीजानी, जिलाध्यक्ष, भाजपा

Posted By: anil.tomar