Gwalior Collage admission News: विद्यार्थी कालेजों में प्रवेश के लिए 21 से 28 बीच करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन, 30 तक फीस भरनी होगी

Updated: | Tue, 19 Oct 2021 07:59 PM (IST)

Gwalior Collage admission News: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। उच्च शिक्षा विभाग ने स्नातक व स्नातकोत्तर की खाली सीटों पर प्रवेश के लिए विद्यार्थियों को एक और मौका दिया है। 21 से 28 अक्टूबर तक विद्यार्थी प्रवेश के लिए अपना आन लाइन पंजीनय करा सकते हैं। कालेज लेवल काउंसिलिंग अतिरिक्त चरण है। 29 से 30 अक्टूबर के बीच विद्यार्थियों को फीस जमा करनी होगी। इस बार कक्षा 12 वीं व स्नातक तृतीय वर्ष में अधिकतर विद्यार्थी पास हुए थे। इस कारण निर्धारित सीटें पहले ही फुल हो गई थी। इसे देखते हुए सीटों की संख्या बढ़ाई थी, लेकिन सीएलसी राउंड में नहीं भर सकी। इन्हें भरने के लिए अतिरिक्त राउंड चलाया जाएगा।

शासकीय और अशासकीय कॉलेजों में स्नातक और स्नातकोत्तर की सीटों पर प्रवेश के लिए आानलाइन काउंसलिंग के साथ-साथ कॉलेज लेवल काउंसलिंग के दो राउंड हो चुके हैं। शहर की शासकीय कालेजों में बड़ी संख्या में सीटें खाली हैं। इन सीटों पर प्रवेश के लिए 21 से 30 अक्टूबर तक अतिरिक्त चरण की काउंसलिंग कराने जा रहा है। विद्यार्थी 21 से 28 अक्टूबर तक आानलाइन पंजीयन कराने के साथ-साथ दस्तावेजों का सत्यापन करा सकेंगे। 29 और 30 अक्टूबर को फीस जमा करने के निर्धारित किए गए हैं। विद्यार्थियों को सीएलसी में शामिल होने के लिए सुबह 10 बजे पहुंचना होगा। दोपहर 12 बजे तक काउंसलिंग चलेगी।

एमएलबी की सीटें फुल, शेष कालेजों में सीटें है खाली

- एमएलबी स्नातक की अधिकतर सीटें पूरी भर गई है, लेकिन स्नातकोत्तर सीटें खाली है। इसके अलावा केआरजी, एसएलपी, साइंस कालेज में स्नातक व स्नातकोत्तर की सीटें खाली हैं। इन खाली सीटों पर विद्यार्थी प्रवेश ले सकते हैं।

- मेरिट के अाधार सूची जारी की जाएगी। कॉलेज लेवल काउंसलिंग में शामिल होने वाले छात्रों को प्रोफार्मा में जानकारी भरकर जमा करना होगी कि वह किस कोर्स में प्रवेश लेना चाहते हैं।

- इस बार ला में प्रवेश की ज्यादा चाहत रही। इस कारण ला कालेजों की अधिकतर सीटें फुल हो गई।

इनका कहना है

उच्च शिक्षा विभाग ने कालेज लेवल काउंसिलिंग का अतिरिक्त चरण कार्यक्रम जारी किया है। यह चरण 21 से 20 अक्टूबर के बीच चलेगा। विद्यार्थी अपना पंजीयन करा प्रवेश ले सकते हैं।

डॉ. एमआर कौशल, अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा विभाग

Posted By: anil.tomar