HamburgerMenuButton

ग्वालियरः पांच फैक्ट्रियों पर कलेक्टर की छापेमारी,2 सील,एक पर लगेगी रासुका

Updated: | Thu, 03 Dec 2020 11:21 AM (IST)

वरूण शर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। एंटी माफिया अभियान और मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत बुधवार को खुद कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह फूड एंड सेफ्टी टीम के साथ सड़कों पर निकल पड़ें। एक के बाद एक कलेक्टर ने पांच फैक्ट्रियों पर डिप्टी कलेक्टर संजीव खेमरिया के साथ छापेमारी की कार्रवाई कराई। मंगलवार को गिरवाई पर सील की गई हिमांशु अग्रवाल की तिली तेल की फैक्ट्री में पशु आहार के लिए बनाए जा रहे तेल को खाद्य तेल में सप्लाई के संकेत मिलने के बाद पड़ताल कराई गई। फैक्ट्री सील कर गिरवाई थाना प्रभारी को हिमांशु अग्रवाल के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत प्रकरण बनाकर भेजने के निर्देश दिए। कलेक्टर फैक्ट्री मालिक पर रासुका की कार्रवाई करेंगे। वहीं गिरवाई क्षेत्र में ही ओम सांई गृह उद्योग पर गोवा गुटखा के रैपर में बच्चों के पॉपकॉर्न पैक किए जा रहे थे और लाइसेंस भी नहीं था, इसलिए सील किया गया। विक्की फैक्ट्री पर जोधपुर मिष्ठान भंडार की फैक्ट्री पर 60 किलो एक्सपायर्ड नारियल पाउडर मिला। इसके साथ ही दो और फैक्ट्रियों पर कलेक्टर ने पहुंच कार्रवाई कराई।

ऐसे चली छापेमारी की कार्रवाई

1-हिमानी शिवानी कैटल फीड फैक्ट्रीः गिरवाई नाका स्थित हिमानी शिवानी कैटल फीड्स (तिल फैक्ट्री) पर छापामार कार्रवाई की। इस फैक्ट्री में अखाद्य तेलों व पशु आहार के निर्माण संबंधी अनुमति है, मगर फैक्ट्री संचालक द्वारा लोगों के लिए अखाद्य घोषित पदार्थों को बेचने की अनियमिततायें प्रारंभिक जांच में सामने आईं। फैक्ट्री मालिक हिमांशु अग्रवाल के रासुका की कार्रवाई होगी। यहां सैंपलिंग भी कराई गई।

2-ओम सांई गृह उद्योग फैक्ट्रीः गिरवाई क्षेत्र में ही स्थित ओम सांई गृह उद्योग पर छापामार कार्रवाई की। इस फैक्ट्री में गोवा गुटखा के रैपर में बच्चाें के पॉपकॉर्न व नमकीन इत्यादि सामग्री पैक कर बेचने के लिए रखी मिली। यह अनियमितता पाए जाने पर फैक्ट्री संचालक प्रकाश जयसिंघानी के खिलाफ खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। सैंपलिंग भी हुई।

3-जीडीपी एग्रो एंड फूड प्रोडक्ट फैक्ट्रीः बाराघाटा औद्योगिक क्षेत्र में स्थित जीडीपी एग्रो एण्ड फूड प्रोडक्ट प्रालि पर छापामार कार्रवाई की। इस फैक्ट्री से खाद्य विभाग की टीम ने सरसों, तिली, स्टार्च इत्यादि खाद्य पदार्थों के नमूने लिए। इसके मालिक अशोक अग्रवाल हैं। साथ ही लगभग 5 लाख रूपये कीमत की 4500 किलोग्राम से अधिक तिली,तेल एवं 300 किलोग्राम मेज स्टार्च जब्त किया है। यह सामग्री संदिग्ध हाल में मिली है।

4-जोधपुर मिष्ठान भंडार फैक्ट्रीः विक्की फैक्ट्री के पास बाराघाटा क्षेत्र में ही जोधपुर भंडार की फैक्ट्री पर भी खाद्य सुरक्षा की टीम द्वारा छापामार कार्रवाई की गई। इस फैक्ट्री से मावा रोल, काजू कतली, हल्दी पाउडर इत्यादि मिठाईयों के सैंपल लिए गए। साथ ही खराब अवस्था में मिला लगभग 60 किलोग्राम नारियल पाउडर नष्ट कराया गया। यहां गंदगी भी मिली। इसके मालिक सवाई सिंह हैं।

5-पशु आहार-तेल फैक्ट्रीः हजीरा क्षेत्र में स्थित पशु आहार निर्माण करने वाली एक फैक्ट्री का औचक निरीक्षण किया। फैक्ट्री से पदार्थों के नमूने लिए गए एवं खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई। यह गिरवाई वाली हिमानी शिवानी कैटल फीडस के मालिक की ही फैक्ट्री है।

इस टीम ने की कार्रवाईः डिप्टी कलेक्टर एवं अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा प्रशासन संजीव खेमरिया के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा अधिकारी राजेश कुमार गुप्ता, सतीश धाकड़, गोविंद सरगैयां,निरूपमा शर्मा,लखनलाल,रवि कुमार शिवहरे, लाेकेंद्र सिंह व सतीश शर्मा सहित अन्य खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया।

Posted By: vikash.pandey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.